चंडीगढ़ः कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा आदेश जारी करने के एक दिन बाद मंगलवार को पूरे हरियाणा में लॉकडाउन :बंद: कर दिया गया. इससे पहले हरियाणा सरकार ने गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, पानीपत, झज्जर, रोहतक और पंचकूला जिले में 31 मार्च तक बंद का आदेश दिया था लेकिन बाद में इसे पूरे राज्य में लागू कर दिया गया. Also Read - Coronavirus in Pakistan: कोरोना के 2,818 मामले दर्ज, मृतक संख्या 41 पहुंची, इमरान खान ने बढ़ते खतरे को लेकर कही ये बात 

हालांकि अधिकारियों ने बताया कि सभी आवश्यक और आपातकालीन सेवाओं को इससे बाहर रखा गया है. उन्होंने कहा कि बंद के दौरान आवश्यक सामान जैसे भोजन, सब्जी, दवा इत्यादि को छोड़कर सभी वाणिज्यिक प्रतिष्ठान, दुकानें और कारखाने बंद रहेंगे. Also Read - केविन पीटरसन बोले-हर हाल में होना चाहिए IPL 2020 का आयोजन, बताया तरीका

अधिकारियों ने बताया कि पानी की आपूर्ति, सफाई और बिजली की आपूर्ति को भी बंद से बाहर रखा गया है. उन्होंने कहा कि राज्य में टैक्सी और ऑटो रिक्शा समेत सार्वजनिक परिवहन सेवाएं बंद रहेंगी. राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा, “लॉकडाउन का कड़ाई से पालन हो हम यह सुनिश्चित करेंगे, हालांकि आवश्यक और आपातकालीन सेवाएं जारी रहेंगी.” Also Read - गाजियाबाद में छुपे तबलीगी जमात से जुड़े 10 इंडोनेशियाई नागरिक हिरासत में, जांच के लिए भेजे गए सैंपल

पुलिस कर्मी और प्रशासन के अधिकारियों ने कई स्थान पर लोगों से घरों के भीतर रहने की अपील की. बंद के दौरान राज्य की सीमाएं सील रहेंगी और अंतरराज्यीय बस सेवाएं निलंबित रहेंगी.

राज्य में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू होने से पांच से अधिक व्यक्ति एक साथ एकत्रित नहीं हो सकेंगे. विज ने चेतावनी देते हुए कहा कि बंद के नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने जनता से सहयोग की अपील की.