Coronavirus Updates: दक्षिण अफ्रीका में पाए गए कोरोना के नए वेरिएंट इजराइल और बेल्जियम में भी मिले

Coronavirus Updates: कोरोना के संभावित तीसरी लहर की आशंका के बीच नए वेरिएंट (New Covid Variant) ने एक बार फिर चिंता बढ़ा दी है.

Advertisement

Coronavirus Updates: कोरोना के संभावित तीसरी लहर की आशंका के बीच नए वेरिएंट (New Covid Variant) ने एक बार फिर चिंता बढ़ा दी है. दक्षिण अफ्रीका में इस हफ्ते की शुरुआत में कोराना का नया स्वरूप 'B.1.1.529' सबसे पहले सामने आया. इसके बाद गुरुवार को इस वेरिएंट के केस हांगकांग और बोत्सवाना से भी सामने आए. शुक्रवार देर शाम तक बेल्जियम और इजरायल में भी इस वेरिएंट के केस मिले. उधर, इजराइल में कोरोना नये स्वरूप से संक्रमण का पहला मामला सामने आने के बाद प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने कहा कि देश 'आपात स्थिति की दहलीज पर है.' स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि मलावी से लौटे यात्री और दो अन्य संदिग्ध संक्रमितों को क्वारेंटाइन में रखा गया है.

Advertising
Advertising

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस का नया स्वरूप सामने आया है, जिसके बारे में वैज्ञानिकों का कहना है कि यह बहुत ज्यादा संक्रामक है और इसी के कारण गावतेंग (देश का सबसे ज्यादा आबादी वाला प्रांत) में युवाओं के बीच तेजी से संक्रमण फैला है. कोरोना वायरस के नये स्वरूप पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार को बुलाई गई मंत्रिमंडल की बैठक में प्रधानमंत्री बेनेट ने कहा कि यह ज्यादा संक्रामक है और डेल्टा स्वरूप से ज्यादा तेजी से फैलता है. उन्होंने कहा कि अधिकारी अभी इस संबंध में सूचना जुटा रहे हैं कि क्या टीके इसपर निष्प्रभावी हैं और क्या यह जानलेवा है. इजराइल ने गुरुवार देर शाम दक्षिण अफ्रीका और छह अन्य अफ्रीकी देशों को लाल सूची में शामिल करने की घोषणा की, जहां से आने वाले विदेशी नागरिकों की इजराइल यात्रा पर प्रतिबंध है.

डब्ल्यूएचओ ने विशेष बैठक बुलाई

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सलाहकार एक विशेष सत्र आयोजित कर रहे हैं, जिसमें दक्षिण अफ्रीका में सामने आए कोरोना वायरस के एक चिंताजनक नए स्वरूप के बारे में विचार विमर्श किया जाएगा. हालांकि, एक शीर्ष विशेषज्ञ का कहना है कि इसका कोविड-19 टीकों पर पड़ने वाले प्रभाव का कई सप्ताह तक पता नहीं चल सकेगा.

Advertisement

कोविड-19 के विकास पर तकनीकी सलाहकार समूह तथाकथित B.1.1.529 संस्करण पर चर्चा करने के लिए आभासी बैठक कर रहा है, जिसने शेयर बाजारों को झकझोर कर रख दिया है और यूरोपीय संघ को दक्षिणी अफ्रीका के लिए उड़ानों पर रोक की सिफारिश करने के लिए प्रेरित किया है.

समूह यह तय कर सकता है कि क्या यह डेल्टा वेरिएंट की तरह ही "सर्वाधिक चिंतापूर्ण स्वरूप" है और इसे वर्गीकृत करने के लिए ग्रीक अक्षर का उपयोग करना है या नहीं. कोविड-19 पर तकनीकी समूह का नेतृत्व करने वाली मारिया वान केरखोव ने सोशल मीडिया चाट में बृहस्पतिवार को कहा, "हम अभी तक इसके बारे में बहुत कुछ नहीं जानते हैं. हम इतना ही जानते हैं कि कोरोना के इस वेरिएंट में बड़ी संख्या में उत्परिवर्तन हैं, जो एक चिंता का विषय है, क्योंकि जब इतने सारे उत्परिवर्तन होते हैं तो यह वायरस के व्यवहार पर प्रभाव पड़ सकता है.'

(इनपुट: भाषा)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:November 26, 2021 8:57 PM IST

Updated Date:November 26, 2021 8:57 PM IST

Topics