Coronavirus Vaccine Updates: देश में कोरोना का कहर जारी है. भारत में कोरोना वायरस से 1 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है वहीं, अब तक 65 लाख से ज्यादा लोग इसके संक्रमण के शिकार हुए हैं. कोराना के बढ़ते संक्रमण के बीच दुनियाभर के देशों को ऐसे वैक्सीन का इंतजार है, जो COVID के खिलाफ कारगर और सुरक्षित हो. भारत में भी तीन-तीन वैक्सीन (Corona Vaccine) पर शोध जारी है. देश के वैज्ञानिक दिन रात एक कर वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं. देश में तीनों वैक्सीन (Covaxin,ZyCov-D,Covishield) का फेज 2/3 ट्रायल चल रहा है. Also Read - कोल्ड चेन की कमी से दुनिया में तीन अरब लोगों तक कोरोना टीका पहुंचने में हो सकती है देर

इन सबके बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन (Dr Harsh Vardhan) ‘संडे संवाद’ कार्यक्रम के जरिये भारत की कोविड वैक्‍सीन (Covid Vaccine) का प्लान बताएंगे. कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ्य मंत्री यह बताएंगे की कोरोना की वैक्सीन (Coronavirus Vaccine Updates) कब आएगी और, किसे इसकी पहली डोज मिलेगी? स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी.

स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर लिखा, ‘अगर कोरोना वैक्सीन आया तो कैसे पहुंचेगा भारत की 140 करोड़ की आबादी तक?Online Classes से बच्चों की आंखों को होने वाले नुकसान से क्या हैं बचाव के उपाय? ऐसे कई रोचक सवालों के जवाब के लिए इंतज़ार कीजिए ‘संडे संवाद’ का.

बता दें कि हाल ही में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 टीका के विकास से जुड़ी सूचनाएं देने के लिए पोर्टल शुरू किया था. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, टीका वेब पोर्टल और ‘नेशनल क्लीनिकल रजिस्ट्री फॉर कोविड-19’ की शुरुआत भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (ICMR) ने किया है और इसका स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने उद्घाटन किया. इस पोर्टल पर टीके के विकास में देश और दुनिया में हो रही सभी बातों का जिक्र होगा. इसपर टीके के विकास में भारत के सभी प्रयासों से जुड़ी तमाम सूचना उपलब्ध होगी.

बयान के अनुसार, ‘इसमें दिलचस्पी रखने वाले लोग टीके के विकास से जुड़ी ताजा जानकारी पाने के लिए वेबसाइट पर जा सकते हैं.’ हर्षवर्धन ने कहा, ‘यह पोर्टल टीके के विकास, फिलहाल चल रहे क्लिनिकल ट्रायल और इस क्षेत्र में देश दुनिया में हुई प्रगति से जुड़ी उपयोगी और महत्वपूर्ण सूचनाएं समय-समय पर देगा. कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के दौर में टीके के विकास पर सभी नजर रख रहे हैं. इसलिए देश में टीके के विकास से जुड़ी बातें साझा करना महत्वपूर्ण हो गया था.’

(इनपुट: एजेंसी)