Coronavirus Vaccine Updates: देश में जारी कोरोना संकट के बीच इसकी वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतजार कर रहे लोगों के लिए राहत की खबर है. भारत के औषधि नियामक DCGI ने सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. इसे लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का भी बयान आया है. WHO ने कोविड-19 के टीके (COVID-19 Vaccine) के आपात उपयोग की मंजूरी देने के भारत के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह मौजूदा महामारी के खिलाफ लड़ाई को तेज और मजबूत करने में मदद करेगा. Also Read - सीरम इंस्टिट्यूट में आग लगने से हुआ भारी आर्थिक नुकसान, इन टीकों के उत्पादन में आ सकती है कमी

WHO दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा, ‘डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में कोविड-19 के टीके के प्रथम आपात उपयोग की मंजूरी का विश्व स्वास्थ्य संगठन स्वागत करता है. भारत द्वारा आज लिए गये फैसले से क्षेत्र में कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई तेज करने और उसे मजबूत करने में मदद मिलेगी.’ खेत्रपाल के मुताबिक प्राथमिकता प्राप्त आबादी में टीके का उपयोग, जन स्वास्थ्य के अन्य उपायों का क्रियान्वयन जारी रखना तथा सामुदायिक भागीदारी महामारी का प्रभाव घटाने में महत्वपूर्ण होंगे. Also Read - भारत न‍िभा रहा पड़ोसी धर्म, Covid-19 Vaccine के 30 लाख डोज नेपाल और बांग्‍लादेश को रवाना क‍िए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ भारत की जंग में इसे निर्णायक क्षण बताते हुए कहा कि इससे कोविड मुक्त भारत की मुहिम को बल मिलेगा. देश में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 18,177 नए मामले सामने आने के बाद अब तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 1,03,23,965 हो गई है, जिनमें से 99,27,310 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं. Also Read - Coronavirus vaccine: ये लोग भूलकर भी ना लगाएं कोरोनावाय़रस की वैक्सीन, नहीं तो हो सकती है इस तरह की परेशानी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में 217 और लोगों की मौत होने के बाद देश में संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या 1,49,435 हो गई है. देश में कोविड-19 के कारण मृत्यु दर 1.45 प्रतिशत है. आंकड़ों के अनुसार, देश में इस समय 2,47,220 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है, जो कुल मामलों का 2.39 प्रतिशत है.

(इनपुट: भाषा)