नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के भारत के प्रतिनिधि हेंक बेकेडम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘जनता कर्फ्यू’ पहल की सराहना की, जो रविवार को एक दिन के लिए प्रभावी होगा. मोदी के गुरुवार की शाम को संबोधन के बाद डब्ल्यूएचओ द्वारा जारी एक बयान में बेकेडम ने कहा, “हम प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू और सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाने के आह्वान का स्वागत करते हैं. रणनीति का प्रभावी तौर पर क्रियान्वयन से वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में काफी मदद मिलेगी.” Also Read - इस राज्य में सबसे तेजी से फैल रहा कोरोना, एक दिन में 13 लोगों की मौत

बेकेडम ने कहा, “हाथ की स्वच्छता के साथ, खांसने और छींकने के दौरान आस्तीन के इस्तेमाल प्रसार की रोकथाम करता है. इन उपायों के साथ सोशल डिस्टेंशिंग से प्रसार को रोकने में प्रभावी मिलेगी. यहां तक कि सोशल डिस्टेंशिंग को बनाए रखने के साथ इस चुनौती से निपटने के लिए एकजुटता के साथ खड़ा होना भी उतना ही महत्वपूर्ण है.” Also Read - याद नहीं पिछली बार कब इतना लंबा ब्रेक लिया था : पीवी सिंधु

नोवेल कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को देश के लोगों से रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू अपनाने का आग्रह किया. शुक्रवार तक 20 राज्यों/केंद्र शासित प्रदशों में कुल 195 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि की गई है, जिसमें 163 भारतीय हैं और 32 विदेशी नागरिक हैं. Also Read - Coronavirus latest update: रविवार का दिन सबसे बुरा, मरीजों का आंकड़ा 4000 के पार, एक दिन में 27 लोगों की मौत