नई दिल्ली: पूरा देश इस समय कोरोना वायरस जैसी भयानक बिमारी से ग्रस्त है. इस महामारी के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. ऐसे में सड़क पर गाड़ियों की आवाजाही भी बंद है. लेकिन इन सब के बीच पुलिस अपना काम मुस्तैदी के साथ कर रही है. देश की राजधानी दिल्ली में भी लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जा रहा है. हाल ही में दिल्ली से एक ऐसी खबर सामने आई जिसमें पुलिस ने एक फ़रिश्ते की भूमिका निभाई. Also Read - Coronavirus in Assam Update: 156 नए मामलों के साथ संक्रमितों की संख्या 500 के पार, ये जिले बने नए हॉटस्पाट

दरअसल दिल्ली में रहने वाली 28 वर्षीय मंजरी खातून ने पुलिस की मदद से पुलिस वैन में ही बच्ची को जन्म दे दिया. दक्षिण दिल्ली के किदवई नगर में बुधवार को महिला को एम्बुलेंस ना मिलने पर जन पुलिस वैन से अस्पताल ले जाया जा रहा था तब रास्ते में ही महिला ने बच्ची को जन्म दे दिया. Also Read - कोरोना वायरस से प्रभावित टॉप 10 देशों की सूची में पहुंचा भारत, जून के अंत तक बहुत तेजी से बढ़ेंगे मामले

पुलिस द्वारा साझा की गई जानकारी के अनुसार महिला के घर से पुलिस को एक फ़ोन किया गया जिसमें तत्काल एम्बुलेंस की डिमांड की गई और फिर महिला कान्स्टेबल सहित चार पुलिसकर्मी इस 28 वर्षीय गर्भवती महिला को ईआरवी (आपात प्रतिक्रिया वाहन) के मदद से सफदरजंग अस्पताल ले जाने लगे लेकिन रास्ते में ही इस गर्भवती मां ने बच्ची को पैदा कर दिया. Also Read - पंजाब में कोविड-19 के 21 नए मामले सामने आये, कुल संख्या बढ़ कर 2,081 हुई

बता दें की कुछ दिन पहले देवरिया जिले के खुखुंदू गांव में  पैदा हुए एक बच्चे का नाम उसके माता-पिता ने ‘लॉकडाउन’ रखा है. बच्चे के पिता पवन ने कहा, “यह लॉकडाउन के दौरान पैदा हुआ था. हम कोरोना महामारी से बचाने के लिए लॉकडाउन लागू करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के प्रयासों की सराहना करते हैं.