अगरतला/शिलांग/कोहिमा: पूर्वोत्तर के तीन राज्यों मेघालय, नगालैंड और त्रिपुरा में आज कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतगणना की जाएगी. तीनों राज्यों के विधानसभा चुनाव में हाल ही में मतदान हुआ था. एक्जिट पोल की माने तो इन तीनों राज्यों में इस बार भाजपा एक बड़ी ताकत के रूप में उभर सकती है. दो एक्जिट पोल के मुताबिक, त्रिपुरा में बीजेपी सत्ता में आ सकती है जहां पिछले 25 साल से वाम मोर्चे की सरकार है. Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने बताया कि तीनों राज्यों में मतगणना सुबह आठ बजे से आरंभ होगी. त्रिपुरा में 18 फरवरी को मतदान हुआ था, जबकि नगालैंड और मेघालय में 27 फरवरी को वोट डाले गए थे. इन तीन राज्यों में विधानसभा की 60-60 सीटें हैं, लेकिन अलग-अलग कारण से तीनों राज्य में 59-59 सीटों पर मतदान हुआ है. Also Read - केजरीवाल ने लोगों को गीता पाठ करने की दी सलाह, कहा- गीता के 18 अध्याय की तरह लॉकडाउन के बचे हैं 18 दिन 

मेघालय में पिछले 10 साल से कांग्रेस सत्ता में है लेकिन चुनाव विश्लेषकों के मुताबिक मेघालय में हैट्रिक लगा पाना कांग्रेस के लिए बहुत मुश्किल हो सकता है. मेघालय में कांग्रेस को नेशनल पीपल पार्टी (NPP) और बीजेपी से कड़ी टक्कर मिल सकती है. बता दें कि मेघालय में एनपीपी और बीजेपी मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं. मेघालय में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 60 में से 29 सीट मिली थी. तीन एग्जिट पोल में से एक में भी कांग्रेस को बहुमत मिलता नजर नहीं आ रहा है. वहीं तीनों एग्जिट पोल में बीजेपी को ज्यादा सीटे मिलने की संभावना जताई गई है. Also Read - यूपी: रायबरेली में सोनिया गांधी के 'लापता' होने के लगे पोस्टर, संसदीय क्षेत्र से बाहर होने पर उठे सवाल

इससे पहले शुक्रवार को नगालैंड में नौ विधानसभा सीटों के 13 मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान हुआ जिसमे लगभग 73 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. नगालैंड के सीईओ अभिजीत सिन्हा ने बताया, 13 मतदान केन्द्रों पर 7841 मतदाताओं में से कुल 5728 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. उन्होंने बताया कि मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ. 60 सदस्यीय नगालैंड विधानसभा की 59 सीटों पर 27 फरवरी को मतदान हुआ था. पूर्व मुख्यमंत्री और एनडीडीपी के अध्यक्ष नेफ्यू रियो उत्तरी आंगामी द्वितीय सीट से निर्विरोध निर्वाचित हुए थे.