नई दिल्ली: अदालत शाहीन बाग में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ जारी प्रदर्शन के संबंध में विवादि‍त भाषण देने वाले केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और उनके भाजपा सहयोगी एवं सांसद प्रवेश वर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए या नहीं इस संबंध में दो मार्च को फैसला सुनाएगी. माकपा नेता वृंदा करात ने इनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. Also Read - Oxygen Home Delivery in Delhi: अब कोरोना रोगियों के घर पहुंचाई जाएगी ऑक्सीजन, दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला; यहां करें अप्लाई

दिल्ली पुलिस ने अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट विशाल पाहुजा से कहा कि ठाकुर और वर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के लिए प्रथम दृष्टया कोई संज्ञेय अपराध नहीं मिला. पुलिस ने इसकी कार्रवाई रिपोर्ट दायर करने के लिए अदालत से और समय भी मांगा. उसने कहा कि मामले पर कानूनी सलाह ली जा रही है. Also Read - West Bengal CM Mamta Banerjee: तीसरी बार सीएम पद की शपथ लेते हीं गरजीं ममता बनर्जी- हिंसा बर्दाश्त नहीं

बीजेपी सासंद प्रवेश वर्मा ने 28 जनकारी को कहा था कि कश्मीर में जो कश्मीरी पंडितों के साथ हुआ वह दिल्ली में भी हो सकता है. साथ ही चेताया था कि शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लाखों लोग घरों में घुस कर लोगों की हत्या और महिलाओं के साथ बलात्कार कर सकते हैं. Also Read - UP Gram Panchayat Chunav Results: यूपी पंचायत चुनाव में BJP को करारा झटका, सपा-बसपा के साथ चमके निर्दलीय