Covaxin: कोरोना वायरस की स्वदेसी वैक्सीन Covaxin को लेकर एक बड़ा अपडेट आया है. एक अमेरिकी शोध में पाया गया है कि यह वैक्सीन कोरोना के अल्फा और डेल्टा (Alpha, Delta Variants) दोनों वैरिएंट के खिलाफ काफी प्रभावी है. अमेरिका के The National Institute Of Health (NIH) ने पाया है कि भारत में Bharat Biotech कंपनी द्वारा बनाई जा रही यह वैक्सीन इंसान के शरीर में एक ऐसी एंटीबॉडी बनाती है जो कोरोना के अल्फा और डेल्टा दोनों वैरिएंट से प्रभावी तरीके से लड़ने में सक्षम है.Also Read - डेल्टा और ओमिक्रॉन वेरिएंट के खिलाफ भी कारगर है Covaxin की बूस्टर डोज, जानें स्टडी में क्या आया सामने

अमेरिका में स्वास्थ्य क्षेत्र की इस शीर्ष शोध एजेंसी ने कहा है कि इस वैक्सीन को भारत और दुनिया में करीब 2.5 करोड़ लोगों को लगाया जा चुका है. Also Read - DCGI ने भारत बायोटेक को दी मंजूरी, 6-12 साल के बच्चों को अब लग सकेगी वैक्सीन

एनआईएच ने एक बयान में कहा कि कोवैक्सीन लेने वाले लोगों के ब्लड सीरम को लेकर दो अध्ययन किए गए. इस अध्ययन में पाया गया है कि इसमें ऐसी एंटीबॉडी थी जो प्रभावी तरीके से B.1.1.7 (अल्फा) और B.1.617 (डेल्टा) वैरिएंट से लड़ने में सक्षम हैं. ये अल्फा वैरिएंट सबसे पहले ब्रिटेन और डेल्टा वैरिएंट सबसे पहले भारत में पाया गया था. Also Read - अब सिर्फ इतने रुपए में मिलेगी Covishield और Covaxin Vaccine, प्राइवेट अस्पतालों के लिए घटाई कीमतें

गौरतलब है कि भारत में सबसे पहले पाया गया कोरोना का डेल्टा वैरिएंट काफी खतरनाक साबित हुआ था. इसने भारत में हहाकार मचा दिया था. देश और दुनिया में इस वैक्सीन के प्रभावी होने को लेकर कई सवाल उठाए जा रहे थे. कई वैश्विक एजेंसियों ने इस वैक्सीन के ट्रायल और प्रभावी होने के बारे में फैक्ट्स की कमी की बात कही थी.