ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने भारत बायोटेक (Bharat Biotech) और आइसीएमआर (ICMR) द्वारा निर्मित कोवैक्सीन (Covaxin) को दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल की मंजूरी दे दी है. कोवैक्सीन अपना यह ट्रायल 2 से 18 साल के लोगों के बीच अगले 10 से 12 दिनों में शुरू करेगी. भारत बायोटेक 525 स्वस्थ वॉलंटियर्स पर यह ट्रायल करने वाला है. आज मंगलवार को नीति आयोग के स्वास्थ्य सदस्य डॉ वीके पॉल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये जानकारी दी. Also Read - Covaxin पर दस्तावेज सौंपे जाने के पहले 23 जून को WHO के साथ बैठक करेगी भारत बायोटेक

उन्होंने कहा कि कोवैक्सीन को डीसीजीआई ने दूसरे और तीसरे चरण के लिए क्लीनिकल ट्रायल की मंजूरी दे दी है. ट्रायल में 2 से 18 वर्ष की उम्र के लोगों को शामिल किया जाएगा. मुझे बताया गया कि ट्रायल अगले 10-12 दिनों में शुरू हो जाएगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 11 मई को कोवैक्सीन को क्लीनिकल ट्रायल के लिए DCGI से मंजूरी मिली. DGCI ने सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO) की सब्जेक्ट एक्सपर्ट्स कमिटी (SEC) की सिफारिशों के बाद ये निर्णय लिया. Also Read - सोनिया गांधी-राहुल गांधी ने कोरोना का टीका लगवाया है या नहीं? कांग्रेस ने दिया भाजपा के सवाल का जवाब

इस बीच आज स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कोरोना पर अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि 1,00,000 से अधिक सक्रिय मामले घटकर अब केवल 8 राज्यों में रह गए हैं. 50,000-1,00,000 के बीच सक्रिय मामले वाले राज्य 10 हो गए हैं. दिल्ली में 50,000 से कम सक्रिय मामले हो गए हैं. 50,000 से कम सक्रिय मामले वाले 18 राज्य हैं.

उन्होंने कहा कि 22 राज्य ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी 15% से अधिक है. 5%-15% पजिटिविटी वाले 13 राज्य हैं. 1 राज्य में 5% से कम पॉजिटिविटी है. दिल्ली में साप्ताहिक पॉजिटिविटी 25% से घटकर 13.6% हो गई है.

मेघालय, त्रिपुरा, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और मणिपुर में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट बढ़ रही है. महाराष्ट्र में पॉजिटिविटी 25.5% से घटकर 15.9%, उत्तर प्रदेश में 16.6% है, दिल्ली में 13.6%, मध्य प्रदेश में 15.2%, बिहार में 7.4% और छत्तीसगढ़ में 11% रह गई है.