नई दिल्‍ली: देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले एक लाख से अधिक हो जाने पर मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है. बता दें कि आज देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 24,248 नए मामले सामने आए हैं और 425 लोगों की मौत हुई है. वहीं, सीएम ने यह भी कहा, जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं आ जाती इसका इलाज नहीं है.Also Read - Rashtrapati Bhavan: एक अगस्त से आम लोगों के लिए खुल जाएगा राष्ट्रपति भवन, जानें टाइमिंग

दिल्‍ली में बढ़े कोरोना के मामलों को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कहा, दिल्ली में कोरोना वायरस के मरीज़ों की कुल संख्या 1 लाख पहुंच गई है, लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है. इनमें से लगभग 72,000 मरीज़ ठीक हो गए हैं, दिल्ली में ठीक होने वालों का प्रतिशत 72 हो गया है. Also Read - Lockdown in Bangladesh: कोरोना के डेल्टा वेरिएंट ने बांग्लादेश में मचाई तबाही, लगा संपूर्ण लॉकडाउन

Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में संक्रमण से 483 लोगों की मौत, 35 हजार से अधिक लोग संक्रमित

सीएम केजरीवाल ने कहा, जून महीने में जब हम 100 लोगों का टेस्ट करते थे तो उनमें से 35 लोग कोरोना के मरीज़ निकलते थे, अब 100 लोगों का टेस्ट करने पर 11 मरीज़ मिलते हैं. दिल्ली में अब रोज़ 20,000-24,000 टेस्ट हो रहे हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा, जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं आ जाती इसका इलाज नहीं है. लेकिन तब तक,जो ट्रायल आए हैं, उससे पता चला कि प्लाज्मा से लोगों को मदद मिलती है. पिछले हफ्ते हमने देश का पहला कोरोना बैंक बनाया. अब तक दिल्ली में प्लाज्मा लेने वालों की अफरा तफरी मची हुई थी अब वो कम हुई है.

बता दें कि भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 24,248 नए मामले सामने आए हैं और 425 लोगों की मौत हुई है. COVID-19 पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 6,97,413 दर्ज हुई है, जिसमें 2,53,287 सक्रिय मामले, 4,24,433 ठीक/डिस्चार्ज/विस्थापित मामले और 19,693 मौतें शामिल हैं. यह आंकड़े सोमवार को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने जारी किए हैं.