Covid-19 Kerala: केरल में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ रहे मामले पर चिंतिति राज्य सरकार ने गुरुवार रात एक आदेश जारी कर एक जगह पांच से ज्यादा लोगों के जुटने पर प्रतिबंध लगा दिया है और ये नया आदेश 3 से 31 अक्टूबर तक लागू रहेगा. यह आदेश सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन कराने के मकसद से जारी किया गया है. राज्य सरकार की तरफ से प्रशासन को आईपीसी की धारा 144 लागू करने का निर्देश दिया गया है. आदेश के तहत जिलाधिकारियों को कोराना का फैलाव रोकने के लिए धारा 144 लागू करने की आजादी रहेगी. Also Read - ICMR का बड़ा बयान, कहा- कोरोना के इलाज में अब प्लाज्मा थेरेपी बेअसर, उपचार प्रोटोकॉल से हटाने की योजना

केरल में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस के नए मरीज Also Read - कोरोना से लड़ने में PM मोदी की अपील को मंत्र बनाएं देश के लोग: अमित शाह

बता दें कि केरल में गुरुवार को कोविड-19 के 8,135 नए मामले सामने आने से संक्रमितों की संख्या दो लाख से अधिक हो गई जबकि 29 और लोगों की मौत के साथ मृतकों की संख्या 771 हो गई है. केरल में हाल के हफ्तों में नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. 11 सितंबर को राज्य में संक्रमितों की संख्या एक लाख से अधिक हो गई थी. Also Read - कब आएगी कोरोना वायरस की वैक्सीन, जानें पीएम मोदी ने देश को क्या बताया

केरल सरकार ने दी है कड़ी चेतावनी

24 सितंबर को संक्रमितों की कुल संख्या डेढ़ लाख हो गई जिसके बाद सरकार ने चेतावनी जारी की कि जो लोग सामाजिक दूरी और मास्क पहनने जैसे एहतियाती उपाय नहीं बरत रहे हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने कहा कि स्वास्थ्यकर्मी बड़ी संख्या में संक्रमित हो रहे हैं और गुरुवार को 105 से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं. सात महीने पहले राज्य में भारत का पहला कोरोना वायरस का मरीज मिला था, जब चीन के वुहान से लौटी मेडिकल की एक छात्रा वायरस से संक्रमित पाई गई थी.