गाजियाबाद: कोरोना वायरस का धीरे-धीरे असर बढ़ता जा रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अब तक संक्रमण के मामलों का आंकड़ा 195 पर पहुंच चुका है, जिसमें से 20 ठीक हो चुके हैं और 4 लोगों की मौत हो गई है. केन्द्र और राज्य सरकारें, अपने सभी नागरिकों को एहतियात बरतने के लिए कह रही हैं. लगातार कहा जा रहा है कि एक स्थान पर ज्यादा लोग इकट्ठे न हों, फिर भी कई लोग इन सलाहों का अनुसरण नहीं कर रहे हैं. शुक्रवार को जुमे की नमाज पढ़ने के लिये भी भारी संख्या में नमाजी घर से बाहर निकले और जुमे की नमाज अदा की. Also Read - गावस्कर-पुजारा ने कोराना से छिड़ी जंग में बढ़ाए मदद को हाथ, जानिए कितनी धनराशि की दान

शुक्रवार को ख्वाजा गरीब नमाज मस्जिद, दीपक विहार, गाजियाबाद में भारी संख्या में नमाजी मस्जिद में नजर आये. कुछ नमाजी मुंह पर कपड़ा या मास्क पहने नजर आये तो कुछ बेपरवाही से खांसते हुए. जबकि पूरा देश कोरोना वायरस की चपेट में है उस वक्त ऐसी लापरवाही बरतना भारी पड़ सकता है. आईएएनएस ने एक नमाजी से पूछा कि क्या मौलाना की ओर से घर पर नमाज पढ़ने की अपील की गई है तो उसने जबाव दिया, “मौलाना ऐसा क्यों करेंगे? कोरोनावायरस से संक्रमण बाहर से आए लोगों में है. यहां के लोग तो मस्जिद में ही नमाज पढ़ेंगे अल्लाह के घर जाने में कैसे दिक्कत?” Also Read - COVID-19: सुरक्षा कारणों के चलते न्यूयॉर्क सिटी ने Zoom ऐप पर लगाया प्रतिबंध

गाजियाबाद के डीएम अजय शंकर पांडेय से बात करने की कोशिश की लेकिन संपर्क नहीं हो सका. जानकारी के मुताबिक किसी धर्म की आस्था को लेकर अभी तक प्रशासन कि तरफ से कोई आदेश जारी नही किया गया है. Also Read - COVID19: राजस्‍थान में 24 नए मामलों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 328 पर पहुंचा