Covid-19 Latest News: देश में कोरोना वायरस की भयावह स्थिति के बीच एक खबर ने संक्रमण से प्रभावित असम (Assam) को परेशान कर दिया है. राज्य के सिलचर एयरपोर्ट (Silchar airport) पर विमान से उतरे करीब 300 यात्री अनिवार्य कोरोना टेस्टिंग से बच निकले और टेस्टिंग सेंटर से फरार हो गए. संबंधित अधिकारियों ने इस संबंध में जानकारी दी है. भारत में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के चलते असम सरकार (Assam Government) के संशोधित नियमों में राज्य आने वाले सभी यात्रियों को रैपिड एंटीजन टेस्ट (RAT) और आरटीपीसीआर (RT-PCR) टेस्ट कराना अनिवार्य किया गया है. मालूम हो कि सिलचर एयरपोर्ट आकार में छोटा है इसलिए करीब में ही टिकोल मॉडल हॉस्पिटल में कोरोना टेस्टिंग की जाती है.Also Read - Covid 19 News: क्या उल्टी दस्त हो सकते हैं कोरोना वायरस के नए लक्षण? वीडियो में जानें Covid -19 और Food Poisoning में अंतर - Watch

कछार जिले एडीजी (स्वास्थ्य) सुमित सत्तवान ने इस संबंध में अधिक जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि बीते बुधवार को एयरपोर्ट पर 690 यात्री विमान से उतरे. इनमें से कुछ को छूट दी गई क्योंकि वो दूसरे पूर्वोत्तर राज्यों की यात्रा करने वाले यात्रियों को स्थानांतरित कर रहे थे. कुल 189 लोगों की टेस्टिंग की गई जिनमें छह को कोरोना की पुष्टि हुई. जबकि करीब 300 यात्री बिना टेस्टिंग के चले गए. बिना टेस्टिंग के यात्री एयरपोर्ट से कैसे चले गए और वहां क्या हुआ था इसकी जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि ऐसे यात्रियों का पता लगाया जाएगा. Also Read - वैक्सीनेशन पर SC का फैसला, कहा- बाध्य नहीं कर सकती सरकार; मौजूदा वैक्सीन नीति को बताया सही

नाम नाम जाहिर करने की शर्त पर द इंडियन एक्सप्रेस एक अधिकारी के हवाले लिखता है कि यात्री कोरोना टेस्ट नहीं कराना चाहते थे, इसलिए उन्होंने सहयोग नहीं किया. वो सचमुच टेस्टिंग सेंटर से भाग गए. इधर एडीजी सत्तवान ने कहा कि प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई गई बसों में यात्रियों को एयरपोर्ट से टेस्टिंग सेंटर लाया जाता है. यात्री अपने वाहन/ड्राइवर की जानकारी देकर अपनी गाड़ी से भी टेस्टिंग सेंटर आ सकते हैं. कछार जिले के अधिकारी ने आगे कहा कि पुलिस टेस्टिंग सेंटर से भागे यात्रियो की खोजबीन में जुटी है. सभी के खिलाफ कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी. संबंधित धाराओं में इन यात्रियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. Also Read - बड़ी खुशखबरी: अब छोटे बच्चों को भी लगेगी कोरोना वैक्सीन, मॉर्डना ने दी स्पाइकवैक्स को मंजूरी, जानिए डिटेल्स

उल्लेखनीय है कि कछार जिले में कोविड-19 के 48 नए मामलों की पुष्टि हुई है जबकि बुधवार को असम में कुल 1,665 मामलों की पुष्टि हुई. इसमें संक्रमण की दर 2.68 फीसदी रही. राज्य में वर्तमान में 9,048 एक्टिव केस हैं. संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच राज्य सरकार ने बीते मंगलवार को सभी बाजारों, दुकानों और रेस्तरां को शाम छह बजे तक बंद करने का आदेश जारी कर रखा है.