COVID-19 in India: देश में कोविड-19 महामारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की बैठकों का दौर जारी है. शुक्रवार को भी उन्होंने देश में कोरोना के हालात की समीक्षा के लिए एम्पावर्ड ग्रुप (Empowered Groups) के साथ मीटिंग की. आर्थिक और कल्याण उपायों के लिए बने एम्पावर्ड ग्रुप ने मीटिंग में पीएम को प्रेजेंटेशन दिया. इसमें पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना ( PM Garib Kalyan Anna Yojana) के विस्तार पर जानकारी दी गई.Also Read - एक जून से शुरू होगा राम मंदिर के गर्भगृह का निर्माण, पीएम मोदी ने किया था भूमि पूजन-सीएम योगी करेंगे शुभारंभ

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने एक बयान में बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हुई बैठक में प्रधानमंत्री ने निर्देश दिया कि केंद्र सरकार को राज्य सरकारों के साथ समन्वय बनाकर काम करना चाहिए. इससे सुनिश्चित हो सके कि गरीबों को बिना किसी परेशानी के मुफ्त अनाज मिले. मीटिंग में पीएम ने यह भी कहा कि अटके हुए बीमा दावों के निपटान में तेजी लाने कि लिए जरूरी कदम उठाए जाएं. बैठक में पीएम मोदी ने अधिकारियों को माल की बिना रोक-टोक आवाजाही सुनिश्चित कनरे के लिए समग्र रूप योजना बनाने का निर्देश दिया. Also Read - पाकिस्तान में सियासी बवाल के बीच पेट्रोल-डीजल के दाम में बड़ा इजाफा, इमरान खान ने फिर की मोदी सरकार की तारीफ

मालूम हो कि निजी क्षेत्र, गैर सरकारी संगठनों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ समन्वय पर बने एम्पावर्ड ग्रुप ने पीएम को बताया कि सरकार निजी क्षेत्र, गैर सरकारी संगठनों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ संक्रिय भागीदारी में कैसे काम कर रही है. Also Read - प्रधानमंत्री मोदी ने तमिलनाडु में 31,500 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली 11 परियोजनाओं का किया शिलान्यास

इधर बैठक में पीएम मोदी ने अधिकारियों से कहा कि पता लगाएं कि कोरोना महमारी में कैसे सिविल सोसायटी के वॉलिंटियर्स का सहयोग लिया जा सकता है ताकि उन्हें गैर-विशिष्ट कार्यों में शामिल करके स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र पर बने दवाब को कम किया जा सके. इसके अलावा पूर्व सैनिकों को होम क्वारंटाइन में रह रहे लोगों से संवाद करने के लिए कॉल सेंटर संभालने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है.