Covid 19 India: देश फैली कोरोना महामारी के कारण कई बच्चों के सर से पिता का साया उठ चुका है. ऐसे में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा है कि कोरोना के कारण 18 साल तक संक्रमण के चलते अनाथ हुए बच्चों को सरकार की तरफ से 5 लाख रुपये का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा देने का फैसला किया गया. इस बीमा का प्रीमियम पीएम केयर्स फंड से भरा जाएगा. अनुराग ठाकुर ने ट्वीट करते हुए कहा कि कोरोना से प्रभावित बच्चों की देखभास के लिए उठाए गए कदमों के तहत 18 वर्ष तक के बच्चों को आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख रुपये तक का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा.Also Read - Coronavirus cases In India: 24 घंटे में 30,256 लोग हुए संक्रमित, 295 लोगों की हुई मौत

बता दें कि इस बीमा का भुगतान पीएम केयर्स फंड के जरिए किया जाएगा. उन्होंने अपने ट्वीट के साथ एक तस्वीर को साझा किया जिसपर लिखा था कि 18 साल तक के बच्चे जो संक्रमण के अपने माता पिता को खो चुके हैं उन्हें हर महीने राहत दी जाएगी. बता दें कि 23 साल की उम्र में इन बच्चों को 10 लाख रूपये की राहत राशि भी दी जाएगी. पीएम मोदी द्वारा 29 मई 2021 को बच्चों के लिए पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रेन योजना की शुरुआत की गई थी. Also Read - COVID-19 Update: कोरोना के 30,773 नए केस आज आए, केरल के 19,325 मामले शामिल, एक्‍ट‍िव मरीजों की संख्‍या घटी

इस योजना का मकसद बच्चों की मदद करना है. 11 मार्च 2020 से शुरू होने वाली अवधि के दौरान महामारी में अपने माता पिता को या कानूनी रूप से अपने माता पिता खो देने वाले बच्चों की देखभाल करना इस योजना का उद्देश्य है. बता दें कि 23 साल की उम्र तक बच्चों की मदद कर उन्हें आत्म निर्भर बनाना इस योजना का उद्देश्य है. Also Read - Rajasthan: पिता ने 4 बेटियों को पहले जहर खिलाया, पानी के टैंक में डुबोकर मारा, फिर सुसाइड की कोशिश की