नई दिल्ली: कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर 21 दिन के राष्ट्रव्यापी बंद के बीच, राष्ट्रीय राजधानी के आनंद विहार अंतरराज्यीय बस टर्मिनल पर हजारों प्रवासी वर्कर्स की भीड़ लगी हुई है. इस भीड़ की लंबी कतारों में महिलाएं और बच्चे लगे हुए हैं. ये प्रवासी श्रमिक अपने गृहनगर लौटने के लिए बस पकड़ने की उम्मीद में यहां जुटे हैं. समाचार ऐजेंसी एएनआई ने आनंद विहार बस टर्मिनल की कुछ तस्वीरें और वीडियो शेयर किए हैं जिसमें हजारों की संख्या में लोग इकट्ठा हुए हैं. Also Read - पूर्व पाक गेंदबाज ने कहा- खाली स्टेडियम में टी20 विश्व कप का आयोजन सही नहीं

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार दिल्ली-एनसीआर में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए विशेष बसें चलाने जा रही है, इसकी भनक लगते ही आनंद विहार बस अड्डे पर बेहाल लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे राज्यों से लौटे, प्रदेश के और बिहार के लोगों के लिए रातों रात 1000 बसों का इंतजाम कर उन्हें उनके गंतव्य तक पहुंचाने की पहल की. एक अधिकारी ने बताया कि परिवहन अधिकारी, ड्राइवर एवं कंडक्टर रातों-रात घरों से जगा कर बुलाए गए. उन्होंने कहा, “रातों रात ही 1000 बसों का इंतजाम किया गया.”

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के दौरान काम नहीं होने की वजह से उत्तर प्रदेश, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के आसपास के अन्य राज्यों में काम करने वाले उन मजदूरों का जत्था प्रदेश की सीमा से सटे जिलों में देखा जा सकता है जो पैदल ही अपने गंतव्य की ओर चल पड़ा है . ये लोग अपने घर वापस लौटना चाहते हैं. हालांकि लॉकडाउन के कारण लोगों की आवाजाही पूरी तरह से बंद है.

(इनपुट ऐजेंसी)