नई दिल्ली: ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के पाए जाने के बाद पूरी दुनिया एक बार फिर से अलर्ट हो चुकी है. 22 दिसंबर की रात के बाद से ब्रिटेन से भारत में की जाने वाली हवाई यात्रा पर 31 दिसंबर तक के लिए रोक लगा दी गई है. इसी कड़ी में अब उन लोगों को ट्रेस किया जाएगा, जो लोग ब्रिटेन से इन दिनों भारत लौटे हैं. पिछले 2 हफ्तों में अबतक 7000 लोग दिल्ली पहुंच चुके हैं. ऐसे में अब उनके घर-घर जाकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जांच करेंगे. Also Read - SL vs ENG: दो होटल स्‍टाफ में कोरोना संक्रमण फैलने से मचा हड़कंप, ECB ने जारी किया स्‍टेटमेंट

बता दें कि अबतक ब्रिटेन से भारत आए 20 यात्री कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. हालांकि सभी को क्वारंटीन कर दिया गया है और उनका ट्रीटमेंट चल रहा है, बता दें कि एयरपोर्ट पर लैंड करने वाले यात्रियों को उनकी कोरोना की रिपोर्ट आने तक रोककर रखा जा रहा है. अगर यात्री कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं तो उन्हें अस्पताल भेजा जा रहा है, वहीं अघर उनकी रिपोर्ट निगेटिव आती है तो उन्हें 7 दिनों तक क्वारंटीन रखा जा रहा है, Also Read - Coronavirus Vaccination: इस देश ने कोविड-19 के लिए भारत में बनी एस्ट्राजेनेका के टीके को दी मंजूरी

बता दें कि भारत सरकार द्वारा लंदन से भरी जा रही उड़ानों को फिलहाल के लिए बंद कर दिया गया है. इसका परिणाम यह है कि कोरोना टेस्टिंग के कारण लंदन से लौटे 8 लोग कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं. वहीं इनमें से 6 यात्री एयर इंडिया की विमान में लंदन से भारत पहुंचे थे. वहीं एक अन्य याी ने दिल्ली से चेन्नई के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट ली थी. बता दें कि 2 अन्य ब्रिटेन से लौटे यात्री कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जो लोग कलकता पहुंचे थे. Also Read - कोविड वैक्सीनेशन से पहले बोले स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन- कल एक अहम दिन...कोरोना के खिलाफ लड़ाई का यह अंतिम चरण

निर्देशों के मुताबिक ऐसे यात्रि जो 25 नवंबर से 8 दिसंबर के बीच भारत में आए हैं, उनको ट्रेस किया जाएगा और जिला निगरानी अधिकारी उनसे संपर्क साधेंगे और उनकी सेहत की जांच करेंगे. साथ ही 9 दिसंबर से 23 दिसंबर के बीच भारत लौटे यात्रियों की जानकारी भी राज्य सरकारों के साथ साझा की जाएंगी.