नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी फैलने के बाद से भारत में पहली बार एक दिन में संक्रमण के 11 हजार मामले सामने आए हैं जिससे देश में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 3 लाख को पार गई है. केंद्र ने शुक्रवार को राज्यों से कोविड-19 के उभरते केंद्रों (अत्यधिक मामलों वाले नये स्थानों) पर विशेष ध्यान देने और कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिये सख्त कदम उठाने को कहा. भारत में शुक्रवार शाम को आंकड़ा 3 लाख के पार पहुंचा है. हालांकि इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक शुक्रवार सुबह आठ बजे तक (इससे 24 घंटे पहले से) संक्रमण के 10,956 मामले सामने आए थे. Also Read - अली फज़ल ने लोगों से की ये अपील, कहा- देश में कोरोना गरीबों ने नहीं अमीरों ने लाया है 

वहीं देश में कोरोना से चल रही जंग के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर मुख्यमंत्रियों से मुखातिब होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 और 17 जून को मुख्यमंत्रियों से जहां राज्यों के हालात के बारे में जानकारी लेंगे, वहीं आगे के लिए सुझाव भी मांगेंगे. कोरोना काल में यह छठां मौका होगा, जब वह मुख्यमंत्रियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए रूबरू होंगे. अनलॉक वन की समीक्षा इस वीडियो कांफ्रेंसिंग में मुख्य तौर पर होगी. Also Read - Operation Samudra Setu: भारतीय नौसेना ने पूरा किया 'ऑपरेशन समुद्र सेतु', 3 देशों से 4000 भारतीयों की हुई वापसी

वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए राज्यों को दो ग्रुपों में बांटा गया है. पहले दिन 16 जून की वीडियो कांफ्रेंसिंग में कुल 21 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को शामिल किया गया है. तीन बजे होने वाली इस वीडियो कांफ्रेंसिंग में पंजाब, असम, केरल, उत्तराखंड, झारखंड, छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, गोवा, मणिपुर, नागालैंड, लद्दाख, पुदुचेरी, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मिजोरम, अंडमान निकोबार दीप समूह, दादर नगर हवेली, सिक्किम, लक्षद्वीप का नाम शुमार हैं. वहीं अगले दिन 17 जून को तीन बजे महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, बिहार, आंध्र प्रदेश, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, तेलंगाना और ओडिशा के मुख्यमंत्रियों से चर्चा करेंगे. Also Read - Coronavirus in MP Update: मध्य प्रदेश में जारी कोरोना का कहर, 16 हजार से अधिक संक्रमित, 629 की मौत

शुक्रवार दिन में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों के दोगुना होने में लगने वाला समय बढ़ कर अब 17.4 हो गया है, जो कुछ हफ्ते पहले 15.4 दिन था. मंत्रालय ने कहा कि लॉकडाउन लागू किये जाने के समय, 25 मार्च को कोविड-19 मामलों के दोगुना होने में लगने वाला समय 3.4 दिन था.