नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले रविवार को बढ़कर 3,577 हो गए और मृतकों की संख्या 83 तक पहुंच गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को शाम में ये जानकारी दी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि अब तक देश भर में 274 जिले कोरोनवायरस के कारण प्रभावित हुए हैं. उन्होंने बताया, “भारत में अब तक दर्ज किए गए कुल 3577 मामलों की पुष्टि हुई है. इस दौरान कुल 83 लोगों की मौत हुई है. कल से अब तक 15 अतिरिक्त मौतें हुई हैं. 267 व्यक्ति रिकवर हुए हैं. उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.” Also Read - Lockdown5.0 में खुलेंगे स्कूल, कॉलेज! केंद्र सरकार ने जारी किए नए दिशा-निर्देश, जानें अब क्या हैं नियम

मंत्रालय के मुताबिक, कोविड-19 से सबसे ज्यादा 24 मौत महाराष्ट्र में हुई हैं. इसके बाद 10 मौत गुजरात में, सात तेलंगाना में, दिल्ली और मध्य प्रदेश में छह-छह और पंजाब में पांच मौत हुई हैं. कर्नाटक में चार लोगों की जबकि पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है. जम्मू-कश्मीर, उत्तर प्रदेश और केरल में दो-दो मौत हुई हैं. Also Read - World No Tobacco Day 2020: किसी भी रूप में जानलेवा है तंबाकू, कोरोना काल में तो और भी घातक

गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने इस दौरान कहा कि राज्य सरकारें लॉकडाउन के तहत दिशानिर्देशों का पालन कर रही हैं और आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की स्थिति संतोषजनक है. उन्होंने कहा कि 75 लाख से ज्यादा लोगों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है. Also Read - Railway and Flights Rules and Regulations: 1 जून से बदलने वाले हैं रेलवे, बस और फ्लाइट्स के ये नियम, बरतनी होगी सावधानी

उन्होंने बताया, “27,661 राहत शिविर और आश्रय पूरे भारत में सभी राज्यों में स्थापित किए गए हैं जिनमें 23,924 सरकार द्वारा और 3,737 गैर-सरकारी संगठनों द्वारा किए गए हैं. 12.5 लाख लोग उनमें शरण ले रहे हैं. 19,460 खाद्य शिविर भी लगाए गए हैं जिनमें 9,951 सरकार द्वारा लगाए गए हैं और 9,509 गैर सरकारी संगठनों द्वारा.” गृह मंत्रालय के मुताबिक 13.6 लाखों श्रमिकों को उनके नियोक्ताओं और उद्योग द्वारा आश्रय और भोजन प्रदान किया जा रहा है.