नई दिल्ली: शनिवार से रविवार के बीच, बीते 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोरोनावायरस से 30 लोगों की मृत्यु हो गई. कोरोना से मरने वाले ये सभी लोग दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती थे. अभी तक एक दिन में कोरोनावायरस से दिल्ली में होने वाली ये सर्वाधिक मौतें हैं. इससे पहले शुक्रवार से शनिवार तक दिल्ली में कोरोनावायरस से 23 लोगों की मृत्यु हुई थी. मुख्यमंत्री कार्यालय ने कोरोनावायरस पर आधिकारिक स्वास्थ्य बुलेटिन जारी करते हुए कहा, “दिल्ली में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोनावायरस से 30 अन्य लोगों की मौत हो गई, जिससे इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 261 पहुंच गई है. वहीं इसी अंतराल में 508 लोगों को कोरोनावायरस जांच रिपोर्ट में पॉजिटिव पाया गया है, जिससे यहां कोरोनावायरस से संक्रमित रोगियों की संख्या बढ़कर 13,418 पहुंच गई है.”Also Read - बीसीसीआई ने बदले भारत-वेस्टइंडीज वनडे, टी20 सीरीज के वेन्यू, देखें नया शेड्यूल

मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा, “दिल्ली में अभी तक कोरोनावायरस की जांच के लिए कुल 1,69,873 लोगों का टेस्ट किया गया है. इनमें से 13418 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इन कोरोना पॉजिटिव रोगियों में से 6540 रोगी अभी तक स्वस्थ हो चुके हैं. दिल्ली में सक्रिय मामलों की संख्या 6617 है.” Also Read - UPTET 2021: कोरोना संक्रमित अभ्यर्थी दे सकेंगे यूपीटीईटी परीक्षा, अलग से होगी व्यवस्था

दिल्ली सरकार के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के केस के दोगुना होने की दर करीब 11 दिन के आसपास है. दिल्ली में कोरोना के 184 रोगी आईसीयू में हैं, जबकि उसमें से 26 लोग वेंटिलेटर पर हैं. गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने उन सभी इलाकों को हॉटस्पॉट मानकर सील किया है, जहां कोरोना के तीन से अधिक मामले एक साथ पाए गए हैं. Also Read - Under 19 World Cup 2022: फिर सामने आए कोरोना के मामले, अब इस टीम के खिलाड़ी मिले संक्रमित

दिल्ली में अब कुल 86 कोरोना कंटेनमेंट जोन हैं. इन इलाकों को दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस की मदद से पूरी तरह सील कर दिया है. किसी भी कोरोना कंटेनमेंट जोन या कोरोना हॉटस्पॉट में बाहर का कोई व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकता. इसी तरह इन कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोग भी इस इलाके से बाहर नहीं आ सकते. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कोरोना का संक्रमण इन क्षेत्रों से निकलकर अन्य इलाकों में न फैल सके.

इसके अलावा दिल्ली सरकार ने 3314 कोरोना पॉजिटिव रोगियों को उनके घर में ही आइसोलेशन में रखा है. दिल्ली सरकार के मुताबिक इन व्यक्तियों को स्वास्थ्य संबंधी कोई बड़ी समस्या नहीं है. सभी को घरों के अंदर आइसोलेशन में रहने को कहा गया है. साथ ही इस दौरान ये लोग लगातार फोन के माध्यम से डॉक्टरों के संपर्क में रहेंगे.