Corona vaccine in India: केंद्र ने बृहस्पतिवार को कहा कि दो जनवरी को सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा कोविड-19 टीकाकरण का पूर्वाभ्यास (ड्राई रन) किया जाएगा जिससे कि अभियान में आने वाली चुनौतियों की पहचान की जा सके और योजना तथा क्रियान्यवन के बीच की कड़ियों को परखा जा सके. इस कवायद को सभी राज्यों की राजधानियों में कम से कम तीन सत्र स्थलों पर अंजाम दिए जाने का प्रस्ताव है.Also Read - अब तक 120 करोड़ से ज्यादा लोगों को लगा कोरोना का टीका, राज्यों के पास 22 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन का है बैकअप

कोरोना के टीकाकरण को लेकर केंद्र के इस बड़े कदम से पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने शुक्रवार को समीक्षा बैठक की. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शुक्रवार को दिल्ली सरकार के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और तैयारियों का जायजा लिया. Also Read - सलमान खान ने उठाई मुस्लिम समुदाय में कोरोना वैक्‍सीनेशन की जिम्‍मेदारी, बोलें- एक बात तो साबित हो गई है...

इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कुछ राज्यों में इस कवायद को ऐसे जिलों में भी अंजाम दिया जाएगा जहां पहुंच आसान नहीं है तथा जहां साजो-सामान संबंधी सुविधाओं की अच्छी व्यवस्था नहीं है. 28 और 29 दिसंबर को असम, आंध्र प्रदेश, पंजाब और गुजरात में कोविड-19 टीकाकरण का ड्राई-रन चलाने के बाद, केंद्र अब देश के बाकी हिस्सों में ड्रिल को आगे बढ़ाएगा जिससे टीका आने पर बिनी किसी समस्या के सभी को उपलब्ध कराया जा सके. Also Read - Dengue in India: दिल्ली में डेंगू की स्थिति को लेकर स्वास्थ्य मंत्री मांडविया ने की समीक्षा बैठक, राज्यों में विशेषज्ञ दल भेजेगा केंद्र

एएनआई के मुताबिक, वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि इस अभ्यास का लक्ष्य यह है कि न्यूनतम विवरणों पर गहन शोध किया जा सके. कम से कम दो टीकों ने अपने आवेदन ड्रग कंट्रोलर और विशेषज्ञों को मंजूरी के लिए भेजे हैं, उनके डेटा का सक्रिय रूप से अध्ययन किया जा रहा है.”

हर्षवर्धन ने कहा, “स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की सूची बनाई गई है और कोविड प्लेटफॉर्म पर अपलोड की जाएगी. जिस तरह हम चुनाव के दौरान तैयारी करते हैं, उसी तरह हमें सभी मेडिकल टीमों के प्रत्येक सदस्य को जिम्मेदारी से प्रशिक्षित करने की आवश्यकता है.”

उन्होंने कहा, “राष्ट्रीय स्तर पर 2,000 से अधिक मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षण देने के बाद, राज्य और जिला स्तर पर 700 से अधिक जिलों में प्रशिक्षण चल रहा है. प्रक्रिया चुनावों के संचालन के समान है जहां एक बूथ पर हर टीम को भी प्रशिक्षित किया जाता है.”

मंत्रालय ने कहा, ‘‘कोविड-19 टीकाकरण का पूर्वाभ्यास वास्तविक माहौल में को-विन एप्लीकेशन के इस्तेमाल की अभियानगत संभावना का आकलन करने, योजना और क्रियान्वयन के बीच की कड़ियों को परखने और चुनौतियों की पहचान करने तथा वास्तविक टीकाकरण से पहले मार्ग प्रशस्त करने के उद्देश्य से किया जा रहा है.’’ केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से कोविड-19 टीकाकरण का पूर्वाभ्यास शुरू करने की प्रभावी तैयारियां शुरू करने को भी कहा है.

(इनपुट भाषा)