COVID-19 Vaccination in India: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शनिवार को कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ शुरू किए गए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तहत शनिवार को भारत में अग्रिम पंक्ति के 1.6
लाख से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों और सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई. इसके साथ ही 10 महीनों में लाखों जिंदगियों और रोजगार को लील लेने वाली इस महामारी के खात्मे की उम्मीद जगी है. Also Read - राजस्थान में भी लगेगा लॉकडाउन? सीएम गहलोत ने दी चेतावनी, 'कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करें लोग, नहीं तो..'

हालांकि इस दौरान ओडिशा ने ऐलान किया है कि वह राज्य में एक दिन के लिए कोरोना टीकाकरण को रोकेगा. दरअसल ओडिशा प्रशासन ने ये कदम इसलिए उठाया है ताकि वह शनिवार को टीका लगवाने वाले लोगों के स्वास्थ्य
की निगरानी कर पाए. Also Read - Lockdown in Maharashtra Latest Updates: अभी से खुद को तैयार कर लें लोग, महाराष्ट्र के इस जिले में कल से लग सकता है लॉकडाउन

अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) प्रदीप महापात्र ने कहा, “हम वैक्सीन लेने वालों का निरीक्षण करना चाहते हैं. हालांकि सोमवार से सभी 3.28 लाख स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण अभियान जारी रहेगा.” बता दें कि अभी तक ओडिशा
पहला ऐसा राज्य है जिसने एक दिन के लिए कोरोना टीकाकरण एक दिन के लिए रोकने का ऐलान किया है. Also Read - COVID-19: देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा, 24 घंटे में आए 18,327 नए केस

इससे पहले अधिकारियों ने कहा कि ओडिशा ने शनिवार को राज्य के 161 सत्र स्थलों पर अपना COVID-19 टीकाकरण अभियान शुरू किया, जहां 16,100 लोगों को टीका लगाया जाना था. ओडिशा में कैपिटल अस्पताल में 51
वर्षीय एक फ्रंटलाइन वर्कर बिरंचि नाइक (Biranchi Naik ) सुबह 11 बजे के आसपास टीका लेने वाले पहले व्यक्ति बने.

बता दें कि ओडिशा उन 11 राज्यों और केंद्रशासित में शामिल है जिन्हें कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों टीके दिए गए हैं. वे असम, बिहार, दिल्ली, हरियाणा, कर्नाटक, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना और उत्तर
प्रदेश हैं.

ओडिशा में शनिवार को कोविड-19 के 178 नए मामले आए जिन्हें मिलाकर राज्य में अब तक कुल 3,33,127 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है.