COVID-19 Vaccine, Coronavirus Vaccine, Vaccine Dry Run Latest news: देश के 33 राज्‍यों के 763 जिलों  में आज शुक्रवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के खिलाफ टीकाकरण की तैयारी का पूर्वाभ्‍यास (Dry Run) का दूसरा चरण आज शुक्रवार को  शुरू हो गया है. चेन्नई में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने राजीव गांधी गवर्नमेंट जनरल हॉस्पिटल में आज होने वाले ड्राई रन की तैयारियों का जायज़ा लिया है.Also Read - Mobile Phone यूजर ध्‍यान दें DTO के नए आदेश पर, जान लें क्‍या बंद हो सकता है आपका सिम?

इस दौरान केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि कम समय में भारत ने टीकों का विकास करके अच्छा किया है … अगले कुछ दिनों में, निकट भविष्य में, हमें अपने देशवासियों को ये टीके देने में सक्षम होना चाहिए. यह हमारे हेल्थकेयर प्रोफेशनल को दिया जाएगा. Also Read - CDS Bipin Rawat Death: पाक आर्मी के शीर्ष अफसरों ने जनरल बिपिन रावत की मौत पर किए ट्वीट

चेन्नई में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री वैक्सीन ड्राई-रन को लेकर कहा, ”हमने सुनिश्चित किया है कि राष्ट्रीय स्तर से लेकर जमीनी स्तर तक के लोगों को हर विवरण से अवगत कराया जाए. प्रशिक्षित स्वास्थ्यकर्मियों के लाखों काम जारी हैं और प्रक्रिया जारी है. इस दौरान तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. सी विजयबास्कर भी मौजूद थे. Also Read - CDS Gen Bipin Rawat ही नहीं, हवाई हादसों में देश की इन बड़ी हस्तियों की भी गई है जान, ये हैं 7 बड़े नाम

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, 2 जनवरी को हमने देश के लगभग 125 जिलों में ड्राई रन चलाया था और आज हम इसे देश भर में कर रहे हैं, जो तीन राज्यों ने पहले किया था.

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि मैं पेरियामेडु में जनरल मेडिकल स्टोर डिपो में तैयारी को देखूगा, जो चार राष्ट्रीय टीका भंडारण सुविधाओं में से एक है.उन्‍होंने बताया कि वह चेन्नई के चेंगलपट्टू में एचएलएल बायो-टेक लिमिटेड कैंपस भी जा रहे हैं.

इस अभ्यास यानि ड्राई रन (Dry Run) में राज्य, जिला, प्रखंड और अस्पताल स्तर के अधिकारियों को कोविड​​-19 टीकाकरण के सभी पहलुओं से  भी अवगत कराया जाएगा. इस ड्राई रन का मकसद वास्तविक टीकाकरण कार्यक्रम का अभ्यास करना है ताकि जल्‍द से टीकाकरण की पूरी तैयारी की जा सके.

चेन्नई में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने राजीव गांधी गवर्नमेंट जनरल हॉस्पिटल में आज होने वाले ड्राई रन की तैयारियों का जायज़ा लिया है.

सरकार की यह तैयारी देखकर पूर्व में उसके दिए संकेतों को मुताबिक, दूसरे सप्‍ताह के अंत में या तीसरे सप्‍ताह में वैक्‍सीनेशन के पहले चरण की शुरुआत हो सकती है.

बता दें कि स्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि पहले जिन चार राज्यों में ड्राई रन हुआ था, उससे काफी सबक मिले हैं. इन्हें ध्यान में रखकर पूरे देश में ड्राई रन करवाया जा रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि पूर्वाभ्यास 33 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 736 जिलों में आयोजित किए जाएंगे.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ हो रही बैठक में गुरुवार को कहा था, हमने सबसे पहले चार राज्य में ड्राई रन किया था उन चार राज्यों से मिले फीडबैक में हमने सुधार किए. कल यानि आज 8 जनवरी को 33 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ड्राई रन किया जाएगा.

केंद्रीय मंत्रालय ने कहा, “कोविड​​-19 टीकाकरण के पूर्वाभ्यास का उद्देश्य वास्तविक टीकाकरण कार्यक्रम का अभ्यास करना है.” लाभार्थी पंजीकरण, माइक्रोप्लानिंग और नियोजित सत्र स्थल पर टीकाकरण सहित टीकाकरण अभियान की पूरी योजना का परीक्षण जिला कलेक्टर या जिला मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में किया जाएगा. इस अभ्यास में राज्य, जिला, प्रखंड और अस्पताल स्तर के अधिकारियों को कोविड​​-19 टीकाकरण के सभी पहलुओं से भी अवगत कराया जाएगा.

देश में दो वैक्‍सीन उपलब्‍ध, प्राथमिकता वाले समूहों को पहले लगाई जाएगी
कल केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा था, भारत की दो वैक्सीन- Covishield और Covaxin देश में उपलब्ध होने की स्थिति में आ गई है. हमारी कोशिश है कि इन वैक्सीन को हम पूरे देश में समयबद्ध तरीके से पहुंचा दें, ताकि इन वैक्सीन को पहले phase में लगाए जा रहे priority groups को लगाया जा सके.

दिल्ली में कोविड टीकाकरण के लिए एक और पूर्वाभ्‍यास, यहां बनाए केंद्र
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोविड-19 टीकाकरण के लिए दूसरा पूर्वाभ्यास आज शुक्रवार किया जा रहा है, इसमें दक्षिण दिल्ली, दक्षिण पूर्वी दिल्ली और उत्तर पश्चिम दिल्ली और नई दिल्ली में पूर्वाभ्यास किए जाएंगे. दक्षिण दिल्ली जिले में 10 टीकाकरण केंद्रों को शुक्रवार के पूर्वाभ्यास के लिए चुना गया है, जिनमें एम्स, सफदरजंग अस्पताल शामिल हैं. दक्षिण पूर्वी जिले में 19 स्थानों को चुना गया है और उत्तर पश्चिम जिले में, 12 स्थानों को अभ्यास के लिए चुना गया है, जबकि नई दिल्ली जिले
में चार स्थलों को चुना है. बता दें कि कोविड-19 टीकाकरण के लिए दिल्ली में पहला पूर्वाभ्यास 2 जनवरी को आयोजित किया गया था, जिसके लिए तीन स्थानों को चुना गया था. वे जीटीबी अस्पताल (शाहदरा), शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (दरियागंज) और वेंकटेश्वर अस्पताल (द्वारका) थे.

देश में वैक्‍सीनेशन कुछ ऐसे होगा:- 

1.5 लाख हेल्थ वर्कर्स को पहले लगेगा टीका
कोरोना टीकाकरण को लेकर तय प्राथमिकता के अनुसार सबसे पहले लगभग 1.5 लाख हेल्थ केयर वर्कर्स का कोरोना टीकाकरण होगा
पहली प्राथमिकता में कौन?
– स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं से जुड़े लोग,
– राज्य और केंद्र सरकार के पुलिस जवानों, सशस्त्र बल, होमगार्ड, जेल कर्मचारी, आपदा प्रबंधन समन्वयक, नागरिक सुरक्षा संगठन, नगरपालिका कर्मी
– राजस्व अधिकारियों के रूप में कार्य कर रहे फ्रंटलाइन वर्कर्स, आंगनबाड़ी सेविकाएं
– करीब दो लाख लोगों की वैक्‍सीन लगाई जाएगी

करीब 63 लाख लोगों को दूसरे चरण में लगेगा टीका
दूसरे फेज में 50 साल से ज्यादा उम्र के लगभग 63 लाख लोगों और 50 साल से ज्यादा उम्र वाले उन लोगों को वैक्‍सीन दी जाएगी, डायबिटीज, ब्‍लडप्रेशर, कैंसर और फेफड़े की बीमारी से पीड़ित हैं. इनकी संख्‍या करीब 44 लाख है.

275 वैक्सीन भंडार
पूरे राज्य में 275 वैक्सीन भंडार तैयार किए गए हैं. इसमें राज्य स्तर पर एक और दो क्षेत्रीय वैक्सीन भंडार हैं.
– सभी 24 जिलों में 1-1 और 248 सामूहिक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में वैक्सिंग भंडार बनाए गए है .

लाभार्थियों को दिया जाएगा डिजिटल वैक्‍सीनेशन सर्टिफिकेशन
कोरोना का टीका लेने वाले लाभार्थियों को डिजिटल टीकाकरण प्रमाण पत्र दिया जाएगा. केंद्रीय स्वास्थ विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि इच्छुक लाभार्थियों के लिए स्वास्थ्य आईडी तैयार की जाएगी. टीकाकरण के बाद साइड इफेक्‍ट्स की रिपोर्टिंग और ट्रेकिंग की भी व्यवस्था है.