Covid-19 Medicine News: देश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है. भारत में कोरोना वायरस से अब तक 52 हजार 800 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 27,67,273 तक पहुंच गया है. कोरोना के वैक्सीन को लेकर भी तमाम तरह के रिसर्च जारी हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने भी स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से इस संबंध में बात की थी. उन्होंने कहा था कि कोरोना वैक्सीन के लिए हमारे वैज्ञानिक जी जान से जुटे हुए हैं. देश में एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन कोरोना वैक्सीन इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं. जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश की तैयारी उन वैक्सीन की बड़े पैमाने पर उत्पादन की है.Also Read - Covid-19 Lockdown Update: बड़ी बात-ब्रिटेन में कोरोना हुआ कमजोर, अब नो वर्क फ्रॉम होम, नो फेसमास्क, जानिए

इस बीच डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज ने बुधवार को कोरोना वायरस महामारी के इलाज की दवा Avigan (Favipiravir) टैबलेट बाजार में उतारने की घोषणा की. यह दवा कोविड-19 (Covid-19) के हल्के से लेकर सामान्य संक्रमण के इलाज में इस्तेमाल के लिये है. दवा कंपनी ने शेयर बाजारों को भेजी नियामकीय सूचना में कहा है, ‘फूजीफिल्म टोयामा केमिकल कंपनी लिमिटेड के साथ हुये वैश्विक लाइसेंसिंग समझौते के तहत डॉ. रेड्डीज को अविगन (फेविपिराविर) 200 मिलीग्राम की गोली का भारत में विनिर्माण, बिक्री और वितरण का विशेष अधिकार मिला है.’ Also Read - Punjab Polls 2022: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल कोरोना वायरस से संक्रमित, अस्पताल में भर्ती

डॉ. रेड्डीज ने कहा है कि उसकी दवा ‘अविगन’ को भारत के दवा महानियंत्रक (डीसीजीआई) से कोविड-19 के हल्के से लेकर मध्यम रूप से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिये मंजूरी मिली है. डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज के ब्रांडेड मार्केट्स (भारत और उभरते बाजारों) के सीईओ एम वी रमन्ना ने कहा, ‘हमारे लिये उच्च गुणवत्ता, बेहतर क्षमता, वहनीयता और बीमारी का बेहतर प्रबंधन सबसे पहली प्राथमिकता है. मेरा मानना है कि अविगन टैबलेट भारत में कोविड-19 से प्रभावित मरीजों के लिये प्रभावी इलाज उपलब्ध करायेगी.’ Also Read - Coronavirus in India: पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2.82 लाख नए केस, कल से 18 फीसदी ज्यादा

(इनपुट: भाषा)