Covid-19 Vaccine News: देश में कोरोना वैक्सीन को विकसित करने का काम करीब-करीब अंतिम चरण में है. ऐसे में केंद्र सरकार इन संभावित वैक्सीनों के वितरण को लेकर काम कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मंगलवार को कहा था कि इन वैक्सीनों को जनता तक पहुंचाने के लिए सरकार योजनाबद्ध तरीके से काम कर रही है. Also Read - Lockdown In Rajasthan: राजस्थान में नए दिशानिर्देश हुए जारी, 31 दिसंबर तक लॉकडाउन !

इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के हवाले से आई रिपोर्ट में कहा गया है कि पहले चरण में तीन करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. इन तीन करोड़ लोगों में वे कोरोना वॉरियर्स शामिल होंगे जो अपनी जान जोखिम में डालकर मरीजों के इलाज में लगे हैं. Also Read - Coronavirus Vaccine: डॉ. हर्षवर्धन ने दी गुड न्यूज, बताया- देश की जनता को कब लगेगी वैक्सीन

इन 3 करोड़ लोगों में करीब 70 लाख डॉक्टर और अन्य स्वास्थ्यकर्मी शामिल होंगे. इसके अलावे स्वास्थ्य सेवा से जुड़े अन्य दो करोड़ लोगों को भी वैक्सीन पहले चरण में ही लगाई जाएगी. Also Read - कोरोना के गंभीर मरीजों में 100% कारगर साबित हुआ ये टीका, इस्तेमाल के लिए आज ही अप्लाई करेगी कंपनी

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स ने केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण के हवाले से यह रिपोर्ट छापी है.

भूषण ने बताया है कि सरकार के पास तीन करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए सभी जरूरी सुविधाएं मौजूद हैं. उन्होंने कहा कि हमारे पास पहले ही कोल्ड चेन, वायल्स (Vials), सीरिन्ज (Syringes) और अन्य चीजें मौजूद हैं.

उन्होंने कहा कि पहले चरण की वैक्सीन संभवतः अगले साल जनवरी से जून के बीच पूरी होगी.

उन्होंने आगे कहा है कि देशभर के विशेषज्ञों के सलाह पर सरकार वैक्सीन लगाने संबंधी जरूरी नियमों पर काम कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार पहले चरण कितने लोगों को वैक्सीन जरूरी है और पहले चरण में वैक्सीन के कितने डोज तैयार हो जाएंगे, इन सभी चीजों का भी आंकलन कर रही है.

भूषण का कहना है कि मौजूद परीक्षण प्रक्रिया योजना के अनुसार चले तो जनवरी से जून के बीच पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन के डोज तैयार हो जाएंगे और उसे करीब तीन करोड़ लोगों को दिया जा सकेगा.