Lockdown in Karnataka, COVID curfew, Karnataka, COVID-19, News: देश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के चलते कर्नाटक की सरकार ने कड़ा फैसला लेते हुए राज्‍य में कल यानि मंगलवार रात 9 बजे से आगामी 14 दिनों के लिए कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कोविड-19 महामारी को नियंत्रित करने के लिए मंगलवार रात से 14 दिनों के लिए राज्य में ‘क्लोज डाउन’ की घोषणा की है.Also Read - 'केवल यूनिफॉर्म की है अनुमति' मंगलुरु में तेज होते हिजाब विवाद के बीच बोले कर्नाटक के शिक्षा मंत्री

कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्‍पा ने कहा है, राज्‍य में कल रात 9 बजे से कोविड कर्फ्यू आगामी 14 दिनों के लिए लागू होगा. इसमें जरूरी सेवाओं को सिर्फ सुबह 6 बजे से 10 बजे तक ही छूट मिलेगी. सुबह 10 बजे से दुकानें बंद हो जाएंगी. इस कोविड कर्फ्यू आवश्यक सेवाओं की अनुमति होगी. कोरोना कर्फ्यू में केवल निर्माण, विनिर्माण और कृषि क्षेत्रों की अनुमति है. सार्वजनिक परिवहन बंद रहेगा. Also Read - मुस्लिम लड़की से प्यार करने पर 25 साल के विनोद की पीट पीटकर हत्या, पुलिस ने इलाके में बढ़ाई सुरक्षा

Also Read - हफ्ते में सिर्फ 3 दिन जाना होगा ऑफिस, 8 फीसदी बढ़ेगी सैलरी; जानिए - कौन सी कंपनी दे रही है यह सुविधा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री के निर्देश के मुताबिक, कल रात 9 बजे से 14 दिनों के लिए राज्य में कोविड कर्फ्यू लगाया जाएगा. सुबह 6-10 बजे तक आवश्यक सेवाओं की अनुमति रहेगी. 10 बजे के बाद दुकानें बंद हो जाएंगी,  सिर्फ निर्माण, विनिर्माण और कृषि क्षेत्रों को अनुमति है.  पूरे राज्‍य में सार्वजनिक परिवहन बंद रहेगा.

मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कहा है कि सरकारी अस्पतालों में 18 से 45 साल आयु वर्ग के लोगों को मुफ्त में कोविड-19 टीका मिलेगा, ज‍िसके ल‍िए स्वास्थ्य विभाग दिशानिर्देश बनाएगा.

आवश्यक वस्तुएं बेचने वाली दुकानों को सुबह 6 से 10 बजे तक खोलने की अनुमति होगी
मंत्रिमंडल की तीन घंटे चली बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुएं बेचने वाली दुकानों को सुबह 6  से 10 बजे तक खोलने की अनुमति होगी.

ये सेक्‍टर काम जारी रखेंगे 
सीएम ने कहा, ”कृषि क्षेत्र और कपड़ों के अलावा अन्य उत्पादन क्षेत्र, विनिर्माण क्षेत्र, मेडिकल, आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन से जुड़े क्षेत्र काम करना जारी रखेंगे.”

जिलों के उपायुक्त और तहसीलदार कड़े कदम उठाएंगे 
मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कहा कि सभी जिलों के उपायुक्तों और तहसीलदारों को कड़े कदम उठाने को कहा गया है. येदियुरप्पा ने कहा कि मंत्रिमंडल ने ने विशेषज्ञ समिति से सलाह करने के लिए फैसला लिया है.

18 से 45 साल के लोगों को सरकारी अस्पतालों में टीका नि:शुल्क लगेगा 
कोविड-19 टीकाकरण के बारे में उन्होंने कहा कि 18 से 45 साल आयु वर्ग के लोगों को सरकारी अस्पतालों में टीका नि:शुल्क लगाया जाएगा. इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश स्वास्थ्य विभाग जारी करेगा. मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है और केन्द्र सरकार ने राज्य को रोज मिलने वाले जीवन रक्षक गैस का कोटा 300 मीट्रिक टन से बढ़ाकर 800 मीट्रिक टन कर दिया है.