Covid Vaccine Latest Updates: भारत में कोरोना वायरस से 74 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं और 1 लाख 12 हजार से अधिक की अब तक जान जा चुकी है. कोरोना की वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) को लेकर भी वैज्ञानिक दिन रात लगे हुए हैं. उम्मीद की जा रही है कि देश में कोरोना की वैक्सीन (Covid Vaccine) साल के अंत में या अगले साल की शुरुआत में देश में विकसित हो जाएगी. Also Read - Lockdown News: यहां दो हफ्तों के लिए लगेगा 'संपूर्ण लॉकडाउन', जानें क्या खुलेगा क्या रहेगा बंद?

इस बीच सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) ने कहा है कि भारत में दिसंबर के अंत तक 200-300 मिलियन (20-30 करोड़) COVID-19 वैक्सीन की खुराक तैयार हो जाएगी और अंतिम परीक्षण किया गया वैक्सीन मार्च 2021 तक उपलब्ध होगा. सीरम इंस्टीट्यूट (SII) के कार्यकारी निदेशक सुरेश जाधव ने यह बात कही है. बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट भारत में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University Vacccine) की वैक्सीन को ब्रिटेन की एस्ट्रेजेनिका (Oxford-AstraZeneca) के साथ तैयार कर रही है. Also Read - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 6 बजे राष्ट्र को करेंगे संबोधित, इन मुद्दों पर कर सकते हैं बात

HEAL फाउंडेशन द्वारा आयोजित ‘फार्मा एक्सीलेंस ई समिट 2020’ को संबोधित करते हुए डॉक्टर जाधव ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट दिसंबर के अंत तक ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) के सभी क्लिनिकल ट्रायल का डेटा जमा करेगा. एक न्यूज पोर्टल पर डॉक्टर जाधव के हवाले से छपी खबर के अनुसार, ‘एक बार DCGI के संतुष्ट हो जाने के बाद वह SII को एक महीने के भीतर EUL-आपातकालीन उपयोग लाइसेंस और विपणन की इजाजत दे देगा. इसके बाद सीरम इंस्टीट्यूट डब्ल्यूएचओ में प्रीक्वालिफिकेशन के लिए जाएगा. Also Read - Top News Of The Day: काबू में आया कोरोना! 24 घंटे में केवल 47 हजार नए मामले और 587 की मौत

उन्होंने कहा कि दिसंबर के अंत तक भारत के पास 20 से 30 करोड़ कोविड वैक्सीन की खुराक तैयार होगी, इसलिए एक बार DCGI द्वारा लाइसेंस दिए जाने के बाद उत्पादन हर महीने करीब 6 से 7 करोड़ खुराक तक हो जाएगी. इससे पहले सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर डॉक्टर सुरेश जाधव ने बताया था कि देश को अगले साल मार्च तक कोरोना की वैक्सीन मिल सकती है.

इंडियन एक्सप्रेस ने डॉक्टर सुरेश जाधव के हवाले से लिखा, ‘कई सारी कंपनियां इस दिशा में तेजी से काम कर रही है. उन्होंने बताया कि दो कैंडिडेट तीसरे फेज के ट्रायल में हैं वहीं, एक दूसरे फेज के ट्रायल में है. साथ ही कई और कंपनियां भी इस प्रयास में जुटी हुई है.

उधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुख्य वैज्ञानिक डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि कोविद -19 के खिलाफ एक टीका अगले साल की दूसरी तिमाही तक तैयार हो जाना चाहिए. उन्होंने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ से कहा, ‘जनवरी 2021 तक हमें परिणाम दिखने लगेगा और 2021 की दूसरी तिमाही तक SARS-CoV-2 के खिलाफ टीका तैयार हो जाना चाहिए.’