Covid Vaccine News: केंद्रीय औषधि प्राधिकरण की विशेषज्ञ समिति ने बुधवार को कोविड रोधी टीकों-कोविशील्ड और कोवैक्सीन (Covaxin and Covishield) को नियमित विपणन मंजूरी प्रदान करने यानी बाजार में लाने की अनुशंसा की. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. अभी देश में इन टीकों के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत है. फार्मा कंपनियों-सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) को अपने कोविड रोधी टीकों- क्रमश: कोविशील्ड (Covishield) और कोवैक्सीन (Covaxin) के लिए नियमित विपणन मंजूरी की मांग करते हुए आवेदन जमा किए थे. SII के निदेशक (सरकारी और नियामक मामले) प्रकाश कुमार सिंह ने इस मामले में 25 अक्टूबर को DCGI को एक आवेदन दिया था.Also Read - वैक्सीनेशन पर SC का फैसला, कहा- बाध्य नहीं कर सकती सरकार; मौजूदा वैक्सीन नीति को बताया सही

इस पर DCGI ने पुणे स्थित कंपनी से अधिक डेटा और दस्तावेज मांगे थे, जिसके बाद सिंह ने हाल ही में अधिक डेटा और जानकारी के साथ एक जवाब प्रस्तुत किया था. माना जाता है कि सिंह ने अपने जवाब में कहा कि भारत में चरण 2/3 चिकित्सीय ​​अध्ययन के सफलता से पूरा होने के साथ ही अब तक इस देश और दुनियाभर में लोगों को कोविशील्ड टीके की 100 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं. उन्होंने कहा था, ‘कोविशील्ड के साथ इतने बड़े पैमाने पर टीकाकरण और कोविड-19 की रोकथाम अपने आप में टीके की सुरक्षा और प्रभावकारिता का प्रमाण है.’ Also Read - DCGI ने भारत बायोटेक को दी मंजूरी, 6-12 साल के बच्चों को अब लग सकेगी वैक्सीन

वहीं, कुछ हफ़्ते पहले DCGI को भेजे गए एक आवेदन में हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक के पूर्णकालिक निदेशक वी कृष्ण मोहन ने कोवैक्सीन के लिए नियमित विपणन मंजूरी की मांग करते हुए टीके से संबंधित समूची जानकारी उपलब्ध कराई थी. मोहन ने आवेदन में कहा था कि भारत बायोटेक (Bharat Biotech) इंटरनेशनल लिमिटेड (BBIL) ने भारत में टीके (कोवैक्सीन) के विकास, उत्पादन और चिकित्सीय मूल्यांकन करने की चुनौती ली. Also Read - हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला- राज्य में अब 18 से 59 साल तक के लोगों को फ्री में लगेगी कोविड की 'Booster Dose'

आधिकारिक सूत्र ने कहा, ‘केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) की कोविड​​​​-19 संबंधी विषय विशेषज्ञ समिति (SEC) ने बुधवार को दूसरी बार SII और Bharat Biotech के आवेदनों की समीक्षा की और कुछ शर्तों के साथ कोविशील्ड एवं कोवैक्सीन को नियमित विपणन की मंजूरी देने की सिफारिश की.’ पिछले हफ्ते की बैठक के दौरान एसईसी ने दोनों कंपनियों से अधिक डेटा और जानकारी मांगी थी.

(इनपुट: भाषा)