नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने के साथ ही निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या बढ़कर 2,700 से ज्यादा हो गयी है. राजस्व विभाग के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या रविवार को बढ़कर 2,707 हो गई. निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या 17 सितंबर को 1,751 थी जो 24 सितंबर को बढ़कर 2,000 के पार हो गयी. Also Read - कोरोना महामारी के बीच चुनाव आयोग ने ‘अपने भरोसे के दम’ पर बिहार चुनाव कराया : अरोड़ा

स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने पिछले सप्ताह कहा था कि निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या में वृद्धि दिल्ली में वायरस को फैलने से रोकने की रणनीति का हिस्सा है. उन्होंने पिछले सप्ताह कहा था, ‘‘हमने जांचों की संख्या तिगुनी कर दी है और जिनके संक्रमित होने की पुष्टि होती है, उन्हें छोटे-छोटे निषिद्ध क्षेत्रों में रखा जाता है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. हमें पता था कि इसे दो से चार सप्ताह तक आक्रामक तरीके से लागू करना होगा और अब हमें सकारात्मक परिणाम दिख रहे हैं, मामले कम हो रहे हैं.’’ Also Read - दिल्‍ली में प्रदूषण पर सख्‍त राज्‍य सरकार, 3 नवंबर से पटाखा विरोधी अभियान होगा शुरू

दिल्ली सरकार ने सितंबर में जांच की संख्या बढ़ा दी है. अगर बात नमूनों की जांच के मुकाबले संक्रमण के मामलों की की जाए तो एक सितंबर को यह 24,198 नमूनों पर 2,312 मामले थे जो 19 सितंबर को 61,973 नमूनों के मुकाबले 4,071 मामले हो गए. Also Read - कमाल: कोविड-19 संक्रमित महिला ने जुड़वां बच्चों को दिया जन्म, कई वर्षों से थी नि:संतान

(इनपुट भाषा)