नई दिल्ली: केरल में पिछले दिनों कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि राज्य ओणम उत्सव के दौरान बरती गयी लापरवाही की कीमत अदा कर रहा है. हर्षवर्धन ने कहा कि यह सभी राज्य सरकारों के लिए एक अच्छा सबक होना चाहिए जो त्योहारों की योजना को लेकर लापरवाही बरत रही हैं. Also Read - दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, एक नवंबर से बसों की सभी सीटों पर यात्रा कर सकते हैं यात्री

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस का सामुदायिक तौर पर संक्रमण चुनिंदा राज्यों के कुछ जिलों में सीमित है और ऐसा पूरे देश में नहीं हो रहा है. वह एक प्रतिभागी के सवाल का जवाब दे रहे थे, जिसने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इस बयान का जिक्र किया कि उनके राज्य में सामुदायिक संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं. Also Read - डिज्नी वर्ल्ड ने 28 हजार कर्मियों की छंटनी का किया था फैसला, अब 11 हजार पर लटकी तलवार

हर्षवर्धन ने कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल समेत अनेक राज्यों के विभिन्न हिस्सों में और खासतौर पर घनी आबादी वाले क्षेत्रों में कोविड-19 का सामुदायिक संक्रमण हो सकता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि देशभर में ऐसा नहीं हो रहा है. सामुदायिक संक्रमण कुछ राज्यों के कुछ जिलों तक सीमित है.’’ केंद्र सरकार ने अभी तक देश में कोरोना वायरस के सामुदायिक संक्रमण की बात से इनकार किया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सामुदायिक संक्रमण की कोई मानक परिभाषा नहीं दी है. Also Read - How To Stay Safe In Gathering: कोरोना के दौर में आप जा रही हैं किसी शादी या फंक्शन में तो इन खास बातों का रखें ध्यान

केरल में शनिवार को संक्रमण के मामलों की संख्या 3.3 लाख हो गयी, वहीं मृतक संख्या 1,139 पर पहुंच गयी. ओणम (22 अगस्त) से पहले राज्य में संक्रमण के करीब 54,000 मामले थे, वहीं करीब 200 लोगों की मौत कोविड-19 की वजह से हुई थी. ‘सन्डे संवाद’ के छठे एपिसोड में सोशल मीडिया पर अपने फॉलोअर्स से संवाद में हर्षवर्धन ने अपने इस अनुरोध को दोहराया कि कोविड-19 संक्रमण के जोखिम से बचने के लिए घर में ही परंपरागत तरीके से परिजनों के साथ उत्सव मनाएं. उन्होंने भरोसा दिलाया कि देश में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी नहीं है और सरकार महामारी के कारण मांग में किसी भी बढ़ोतरी की भरपाई के लिए उत्पादन की क्षमता बढ़ाने को तैयार है.

केरल में हाल ही में कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़ने के सवाल पर हर्षवर्धन ने कहा कि 30 जनवरी और तीन मई के बीच राज्य में केवल 499 संक्रमण के मामले थे और इस बीमारी की वजह से दो लोगों की मौत हुई थी. उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि लेकिन केरल पूरी तरह ओणम उत्सव के दौरान लापरवाही बरतने का खामियाजा भुगत रहा है.

(इनपुट भाषा)