नई दिल्‍ली: कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रही दिल्‍ली में 20 हॉटस्‍पॉट की पहचान करने के बाद यहां किसी के भी आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. सदर इलाके में भी कुछ पॉजिटिव केस सामने आए हैं इसलिए इस इलाके को सील कर दिया गया. वहीं दिल्‍ली सरकार ने राजधानी में मास्‍क अनिवार्य किया जाएगा. Also Read - देश में 24 घंटे में कोरोना के 9,851 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 26 हजार के पार

मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार शाम को 7 बजे अपनी कैबिनेट की मीटिंग ली. इसके बाद उन्‍होंने कहा कि ठोस तरीके से कोरोना वायरस के संक्रमण को मास्‍क रोक सकते हैं, इसलिए यह तय किया गया है फेशियल मास्‍क हर किसी के लिए जो भी घर से कदम बाहर रखता है, उसके अनिवार्य होगा. Also Read - कोविड-19 की भेंट चढ़ा हैदराबाद ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट, कोच पुलेला गोपीचंद ने किया रिएक्ट

डिप्‍टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बताया कि सदर इलाके में कुछ पॉजिटिव केस सामने आए हैं, इसलिए इलाके को सील कर दिया गया है. दिल्‍ली में कुछ 20 हॉटस्‍पॉट चिन्‍हित किए गए हैं. इन इलाकों में कोई भी न तो जा सकेगा और न ही बाहर आ सकेगा. बाहर कदम रखने वाले लोगों को अनिवार्य रूप से फेस मास्क पहनना पड़ेेेेगा.
इसका पालन नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. Also Read - Unlock 1 के बीच इस राज्य की सरकार ने उठाए कड़े कदम, वीकेंड के दो दिन रहेगा पूरी तरह से लॉकडाउन

दिल्ली में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 180 से अधिक केस दर्ज, 4,000 लोग हिरासत में
कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए लागू किए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का उल्लंघन करने को लेकर बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी में 180 से अधिक मामले दर्ज किए गए और 3,959 लोगों को हिरासत में लिया गया.

– पुलिस द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक आईपीसी 188 (सरकारी अधिकारी के आदेश की अवज्ञा) के तहत बुधवार शाम पांच बजे तक 188 मामले दर्ज किए गए
– पुलिस के मुताबिक कुल 3,959 लोगों को दिल्ली पुलिस अधिनियम की धारा 65 (पुलिस अधिकारियों के तर्कसंगत निर्देशों का पालन करने के लिए लोग बाध्य हैं) के तहत हिरासत में लिया गया
– दिल्ली पुलिस अधिनियम की धारा 66 के तहत 431 वाहनों को जब्त किया गया
– बंद के दौरान आवागमन के लिए कुल 788 पास जारी किए गए हैं
– 24 मार्च से अब तक कुल 62,922 लोगों को हिरासत में लिया गया
– लोगों को लॉकडॉउन के उल्‍लंघन दिल्ली पुलिस अधिनियम की धारा 65 के तहत हिरासत में लिया गया