नई दिल्‍ली: विश्‍वव्‍यापी भयावह कोरोना वायरस संक्रमण से पश्‍च‍िम बंगाल में बुधवार को 142 नए मामले सामने आए हैं. राज्‍य में कोविड19 से संक्रमितों की संख्‍या बढ़कर 3103 हो गई है. पश्‍च‍िम बंगाल में कोरोना से मरने वालों लोगों की संख्‍या 181 हो गई है. राज्‍य में डिस्‍चार्ज रेट 36.60 फीसदी है. Also Read - दिल्‍ली एम्स में अभी तक 195 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, 2 की जान गई

स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने कहा कि पश्‍च‍िम बंगाल में आज कोविड-19 के 142 केस दर्ज किए गए हैं. राज्‍य में कुल संक्रमित मामलों की संख्‍या अब 30103 हो गई है, जिसमें 181 मरीजों की मौतें हुई हैं. 72 मौतों ऐसे लोगों की हुई हैं, जो पहले से गंभीर बीमारियों से ग्रस्‍त थे. Also Read - अस्पताल प्रशासन की लापरवाही आई सामने, कूड़ेदान में मिले पीपीई किट का किया गया इस्तेमाल

राज्‍य में एक्‍ट‍िव मरीजों की संख्‍या- 1714
संक्रमित मरीज ठीके होने के बाद डिस्‍चार्ज हुए- 1136 Also Read - एमपी में Home Quarantine के नियम तोड़े तो अब लगेगा 2000 रुपए का जुर्माना

पश्‍च‍िम बंगाल में कोरोना वायरस के संकट के साथ ही चक्रवात ‘अम्फान’ का संकट उठ खड़ा हुआ है. आज इसकी चपेट में आने से दो लोगों की मौत हो गई है.

कोविड-19 से मृतकों की  फॉरेंसिक पीएम में चीर-फाड़ न की जाए: आईसीएमआर
कोविड-19 से मरने वाले लोगों में फॉरेंसिक पोस्टमार्टम के लिए चीर-फाड़ करने वाली तकनीक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे मुर्दाघर के कर्मचारियों के अत्यधिक एहतियात बरतने के बावजूद शव में मौजूद द्रव और किसी तरह के स्राव के संपर्क में आने से इस जानलेवा रोग की चपेट में आने का खतरा हो सकता है.