Andhra Pradesh crime: आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंसकर एक पढ़े-लिखे मां बाप ने अपनी ही दो बेटियों की डंबल और त्रिशूल से हत्या कर दी और दोनों शव के आसपास बैठे रहे. घटना की जानकारी मिलते ही जब पुलिस वारदात की जगह पहुंची तो पिता चुपचाप बैठा रहा तो वहीं मां बेटियों के शव के पास झूम-झूमकर गाना गा रही थी और नाच रही थी.Also Read - Sheena Bora Murder Case: इंद्राणी मुखर्जी ने किया दावा, मेरी बेटी शीना बोरा जिंदा है और कश्‍मीर में है

पुलिस ने बताया कि जब वह मौके पर पहुंची तो लड़कियों की मां पद्मजा उनकी लाश के पास नाच रही थी और गाने गा रही थी. तो वहीं  पिता डॉक्टर वी. पुरुषोत्तम नायडू चुपचाप शांत बैठे हुए थे. मां पद्मजा नाच रही थी और लगातार यही कह रही थी कि कोरोना वायरस चीन में नहीं पैदा हुआ, बल्कि ईश्वर ने खुद इसे बनाया था जिससे कलियुग से ‘बुरी आत्माओं’ को नष्ट किया जा सके. Also Read - Bihar: CISF जवान की पत्‍नी के मर्डर में खुलासा, शूटरों से मरवाने वाले पति समेत 5 अरेस्‍ट

पुलिस ने बताया कि जब वह महिला को अस्पताल लेकर गई तो वहां भी उसकी अजीबोगरीब हरकतें जारी थीं. पुलिस ने पद्मजा का कोविड-19 टेस्ट कराना चाहा तो उसने उससे भी इनकार कर दिया और कहने लगी कि वो खुद इंसान के रूप में कोरोना वायरस है और इस टेस्ट की उसे कोई जरूरत नहीं है. Also Read - पत्रकार बुद्धिनाथ झा हत्या मामलाः पुलिस का दावा, 'लव ट्रायंगल के चलते हुआ मर्डर'; परिवार ने ‘मेडिकल माफिया’ पर लगाए आरोप

पुलिस के मुताबिक, मृतक लड़कियों के माता-पिता दोनों शिक्षित हैं और अच्छे परिवार से हैं. इसके बावजूद उन्होंने ऐसा कदम क्यों उठाया, इसकी जांच की जा रही है. पुलिस को शक है कि परिवार कुछ समय से किसी रहस्यमय गतिविधियों में शामिल था.

मदनपल्ली के डीएसपी ए रवि मनोहरचारी ने कहा कि पुलिस और डॉक्टरों को पद्मजा का मेडिकल चेकअप करने के दौरान खासी मशक्कत करनी पड़ी. उसका कहना था कि वह भगवान शिव का अवतार है. दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया और बाद में उन्हें तिरुपति के एसवीआरआर जनरल हॉस्पिटल के मानसिक रोग विभाग में रखा गया है. दोनों को कुछ मानसिक समस्या है और उन्होंने तंत्र-मंत्र के चक्कर में ऐसा किया है.