विश्वविद्यालयों में प्रोफेसर, एसोसिएट पदों पर ओबीसी आरक्षण समाप्त करने के केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ एमबीसीआई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सोमवार को यहां पुतला फूंका। एमबीसीआई के मण्डल प्रभारी श्यामलाल प्रजापति ने कहा कि केंद्र सरकार ने समस्त पिछड़े वर्ग के लोगों की पीठ में छूरा घोंपने का कार्य किया है, जो बर्दास्त के लायक नहीं है। Also Read - मिसाल: जब रामपुर में थानों की थानेदारी संभाली बेटियों ने, बदला बदला सा दिखा माहौल

प्रदेश महासचिव रामबली चौरसिया ने कहा कि मोदी ने संविधान के समता की सिद्धान्त का उल्लंघन किया है, इसे एमबीसीआई विधानसभा चुनाव में मुख्य मुद्दा बनाएगी और जनता के बीच मोदी को बेनकाब करने का काम करेगी। जिलाध्यक्ष छोटेलाल ने पुतला दहन के बाद कहा कि अब एमबीसीआई भाजपा से आर-पार की लड़ाई लड़ेगी और भाजपा एवं आरएसएस की रहनुमाई कर रहे मोदी को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जिले की सभी सीटों से हाथ धोना पड़ेगा। Also Read - कमाल है: उप्र में अनुमति के बिना दाढ़ी रखने पर मुस्लिम पुलिसकर्मी निलंबित

जिला महासचिव रामजी विश्वकर्मा ने कहा कि आज से ही सभी कार्यकर्ता गांव-गांव घर-घर जाकर मोदी के झूठों के पुलिन्दों का खुलासा करना प्रारम्भ कर दें, ताकि लोगों को पता चल सके कि इनकी योजनाएं केवल भाषणों में ही धरातल पर नहीं। Also Read - पहल: उप्र के इस जिले ने पेश की मिसाल, घर की नेमप्लेट पर मां, पत्नी या बेटी का नाम