नई दिल्ली: सीआरपीएफ ने कोविड-19 से लड़ने के लिए अपने जवानों के एक दिन के वेतन से एकत्र की गई 33.81 करोड़ रुपए की राशि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में दी है. Also Read - Video: बादशाह के गाने पर हिमांशी का डांस देख फिदा हुए आसिम रियाज, कुछ इस तरह की तारीफ...

अर्द्धसैनिक बल के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह आम सहमति से लिया गया फैसला था और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ‘‘देश के समक्ष कोरोना वायरस के चुनौतीपूर्ण समय में पूरी प्रतिबद्धता के साथ खड़ा है.’’ Also Read - कोरोना वायरस पीड़ितों के इलाज के लिए विश्व कप फाइनल में पहनी जर्सी नीलाम करेंगे जोस बटलर

प्रवक्ता ने कहा, ”यह तय किया गया कि सीआरपीएफ के कर्मचारी प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में एक दिन के वेतन का योगदान करेंगे. प्रयास किया गया कि तुरंत योगदान किया जाए और इसका खुलासा नहीं किया जाए. उन्होंने कहा, ‘‘सेवा और निष्ठा के अपने उद्देश्य के साथ सीआरपीएफ हमेशा तत्पर है.’’ Also Read - Video: पंजाब में कोरोना के खिलाफ जंग के असली हीरो का हुआ सम्मान, किसी ने बरसाए फूल तो किसी ने पहनाई माला

गृह मंत्रालय के तहत आने वाला सीआरपीएफ देश में आंतरिक सुरक्षा और नक्सल विरोधी अभियानों में संलग्न है जिसमें करीब सवा तीन लाख कर्मी हैं.

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को यह जानकारी दी है कि कोरोना के देश में अब तक के आंकड़ों कुल 649 मामलों की पुष्टि और 13 मरीजों की मौत हो गई है. मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि भारत में अभी कोरोना का संक्रमण दूसरे चरण में ही है और इसके सामुदायिक संक्रमण से जुड़े तीसरे चरण में पहुंचने के फिलहाल कोई ठोस प्रमाण सामने नहीं आये है. पिछले 24 घंटों के दौरान देश में कोरोना के 43 नए मामले सामने आए हैं और चार मरीजों की इसके संक्रमण से मौत हुई है.