नयी दिल्ली: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों के क्षत-विक्षत शवों की सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही ‘फर्जी तस्वीरों’ के खिलाफ सीआरपीएफ ने रविवार को लोगों को आगाह किया. सीआरपीएफ लगातार लोगों को आगाह कर रहा है ताकि माहौल ख़राब न हो. देश के अलग-अलग हिस्सों में कश्मीरियों को परेशान करने और मारपीट की आ रही ख़बरों के बाद भी सीआरपीएफ ने ऐसे लोगों की जानकारी देने के लिए हेल्पलाइन नंबर जानकारी किया था. बृहस्पतिवार को हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. Also Read - Corona के बीच ब्लैक बिकिनी में बॉयफ्रेंड संग वर्कआउट करती दिखीं टाइगर की बहन कृष्णा, VIDEO VIRAL

पुलवामा हमला : CRPF ने कहा-संकट में फंसे किसी भी कश्मीरी की मदद को तैयार, जारी किया टोल फ्री नंबर Also Read - सोशल मीडिया में कोरोनावायरस फैलाने के लिए लोगों को उकसा रहा था सॉफ्टवेयर इंजीनियर, पुलिस ने किया गिरफ्तार

सीआरपीएफ ने कहा, ‘यह संज्ञान में आया है कि सोशल मीडिया पर कुछ शरारती तत्व हमारे शहीदों के क्षत-विक्षत शवों की फर्जी तस्वीरें नफरत पैदा करने के लिए साझा कर रहे हैं, जबकि हम एकजुट हैं.’ सीआरपीएफ ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल @crpfindia पर कहा, ‘कृपया इस तरह की तस्वीरें और पोस्ट सर्कुलेट/शेयर/लाइक न करें.’ सुरक्षाबल ने इस तरह की किसी भी विषय-वस्तु webpro@crpf.gov.in पर देने को कहा है. Also Read - अंकिता लोखंडे का देखने वाला है Traditional अवतार, मराठी लुक में कहर ढाया

ऐसे हैं हमारे CRPF जवान- मुठभेड़ में घायल महिला नक्सली की जान बचाने के लिए किया रक्तदान

अधिकारियों ने बताया कि क्षत विक्षत शवों की तस्वीरें साझा की जा रही है और इस बारे में सुरक्षाबल को जानकारी मिली है, इसके बाद यह परामर्श जारी किया गया. वहीं सुरक्षाबल ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘कश्मीर के छात्रों की प्रताड़ना की कुछ फर्जी खबरें सोशल मीडिया पर शरारती तत्व साझा कर रहे हैं. सीआरपीएफ हेल्पलाइन ने शिकायतों की जांच की और उन्हें गलत पाया.’