नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में एक आतंकी हमले में सीआरपीएफ के कम से कम 44 जवान शहीद हो गए हैं. इस हमले के बाद पूरे देश में शोक और गु्स्सा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जहां कहा है कि इस कदम को उठाने वाले को नहीं बख्सा जाएगा, वहीं भारत ने पाकिस्तान को अलग-थलग करने के रणनीति की बात की है. वहीं, इस पूरे मामले में सीआरपीएफ का भी बयान आ गया है और उसने कहा है कि वह इसका बदला लेकर रहेंगे.

सीआरपीएफ ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि हम इस घटना को नहीं भूलेंगे और न ही दोषियों को माफ करेंगे. पुलवामा हमले में शहीदों को हम सलाम करते हैं और उनके परिवार के साथ मजबूती के साथ खड़े हैं. सीआरपीएफ ने कहा है कि इस हमले का बदला लिया जाएगा.

पीएम मोदी ने ये कहा
बता दें कि इसके पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो लोग इस घटना के बाद उनकी आलोचना कर रहे हैं उन्हें ऐसा करने का अधिकार है, मैं उनकी भावनाओं को समझता हूं. लेकिन वे भरोसा रखें. इस हमले के दोषी नहीं बचेंगे. उन्होंने कहा कि आतंकवाद के सरपरस्तों को जरूर सजा मिलेगी. उन्होंने कहा कि इस घटना का जवाब देने के लिए सुरक्षा बलों को पूर्ण स्वतंत्रता दे दी गई है.

राहुल गांधी ने ये कहा
राहुल गांधी ने कहा कि ये हमला सरकार की आत्मा पर हमला है. हम इस घड़ी में सरकार के साथ खड़े हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि शहीद जवानों के साथ पूरा देश एक है. उन्होंने कहा कि नेशन सिक्यूरिटी फर्स्ट है. किसी भी तरह की ताकत देश को बांट नहीं सकती है. दुख की घड़ी, शोक और सम्मान की घड़ी है. हम भारत सरकार और हमारे सुरक्षाबलों के साथ पूरी तरह से खड़े हैं. इस घड़ी में हम इस मुद्दे के अलावा किसी चीज पर डिस्कशन नहीं करेंगे. अभी सिर्फ और सिर्फ देश के साथ खड़े रहने की जरूरत है.

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने ये कहा
मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर अलग-थलग किया जाएगा. साथ ही पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस लेने का निर्णय लिया गया है. वाणिज्य मंत्रालय इसके संबंध में सूचना जारी करेगा. हालांकि, अरुण जेटली ने कहा कि कई अन्य मुद्दों पर बात हुई, जिसका खुलासा नहीं किया जा सकता है. गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज श्रीनगर जा रहे हैं और वहां की स्थिति का जायजा लेने के बाद शनिवार को सर्वदलिय बैठक लेकर लोगों को मामले के बारे में बता सकते हैं.