वाशिंगटन. कनाडा की क्रिप्टोकरंसी फर्म के सीईओ गेराल्ड कॉटन की भारत में मौत हो गई. वह 30 साल के थे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी मौत के बाद 190 मिलियन डॉलर (करीब 1300 करोड़ रुपये) कीमत की क्रिप्टोकरंसी लॉक्ड है. इसका पासवर्ड सिर्फ वही जानते थे. रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी पत्नी को भी इस बारे में किसी तरह की जानकारी नहीं थी.

गेराल्ड की मौते के बाद कई सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स ने पासवर्ड अनलॉक करने की नाकाम कोशिश की है. बता दें कि गेराल्ड की कंपनी का नाम क्वाड्रिगासीएक्स है. दिसंबर 2018 में आंत संबंधी बीमारी से उनकी मौत हो गई. इस दौरान वह भारत की यात्रा पर थे और अनाथ बच्चों के लिए अनाथालय खोलने वाले थे.

पत्नी पहुंची कोर्ट
गेराल्ड की मौत के बात उनकी पत्नी जेनिफर रॉबर्ट्सन ने कनाडा की कोर्ट में क्रेडिट प्रोटेक्शन के लिए अपील दायर की है. इसमें कहा गया है कि वह और उनकी कंपनी के लोग गेराल्ड की इनक्रिप्टेड अकाउंट को नहीं खोल पा रहे हैं. इससे उनके 190 मिलियन डॉलर रुपये फंसे हुए हैं.

कंपनी ने की अपील
दूसरी तरफ गेराल्ड की कंपनी ने नोवा स्कॉटिया सुप्रीम कोर्ट में अपील की है कि इस मामले में उनकी सहायता की जाए, ताकि उनकी आर्थिक समस्याओं का हल हो सके. कंपनी का कहना है कि हमें अपने कस्टमर्स को हिसाब देना है, लेकिन हम असमर्थ हैं. जिस अकाउंट में पैसा है, हम उसे खोल नहीं पा रहे हैं.