नई दिल्ली: इस बार का इंदिरा गांधी पुरस्कार सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट (सीएसई) को मिला है. यह पुरस्कार शांति, निशस्त्रीकरण और विकास के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य के लिए दिया जाता है. सीएसई की तरफ से संस्थान की महानिदेशक सुनीता नारायणन ने यह पुरस्कार प्राप्त किया. उन्‍हें यह पुरस्‍कार पूर्व उप राष्‍ट्रपति हामिद अंसारी ने दिया. इस मौके पर पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी मौजूद रहीं.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार को यहां इंदिरा गांधी पुरस्कार देने के लिए आयोजित कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में बिगड़ती वायु गुणवत्ता पर चिंता जताई. इस मौके पर गांधी ने कहा कि इस समस्या का समाधान करने के लिए कांग्रेस सरकार ने दिल्ली में सीएनजी संचालित सार्वजनिक परिवहन की शुरुआत की थी.

कांग्रेस अध्यक्ष ने पर्यावरण की सुरक्षा के लिए इंदिरा गांधी द्वारा उठाए गए कदमों का भी उल्लेख किया.

गांधी ने कहा, ” हम, जो दुनिया के सर्वाधिक प्रदूषित शहर के रूप में कुख्यात इस राजधानी में रहते हैं, जब सार्वजनिक परिवहन में संपीडित प्राकृतिक गैस (सीएनजी) को लागू किया गया तो हवा की गुणवत्ता में आए अंतर को याद कर सकते हैं.”

सोनिया ने कहा, ” ये बदलाव सीएसई की ठोस विशेषज्ञता और उस समय की कांग्रेस सरकार की वजह से संभव हो सका.” उन्होंने कहा कि जल संरक्षण और स्वच्छता के लिए सीएसई के काम को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली है.