CWC Meeting: कांग्रेस वर्किंग कमेटी की आज अहम बैठक हुई जो तीन घंटे चली. आज की बैठक की शुरुआत में ही सोनिया गांधी ने पार्टी के असंतुष्ट नेताओं के समूह जी-23 को  तगड़ा जवाब दिया . सोनिया गांधी ने अपने शुरुआती संबोधन में ही गरजते हुए कहा कि मैं ही हूं कांग्रेस की पूर्णकालिक अध्यक्ष. सोनिया ने अपने संबोधन में कहा, “यदि आप मुझे ऐसा कहने की अनुमति देते हैं तो मैं कहती हूं कि -हां,मैं ही कांग्रेस की फुल टाइम अध्यक्ष हूं और आपको ये बात मीडिया के जरिये करने की जरूरत नहीं है.” जो कहना हो सबके सामने स्पष्ट तौर पर कहें.Also Read - Prashant Kishore का हमला- 'विपक्ष का नेतृत्व Congress का दैवीय अधिकार नहीं, 10 साल में 90% चुनाव में मिली है हार' |

उनके इस बयान पर कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, हमें सोनिया गांधी जी पर पूरा भरोसा है और कोई भी उनके नेतृत्व पर सवाल नहीं उठा रहा है. Also Read - 12 दिसंबर को दिल्ली में होगी कांग्रेस की ‘महंगाई हटाओ रैली’, सोनिया और राहुल करेंगे संबोधित

सोनिया गांधी ने कहा कि उन्होंने खुले माहौल में बातचीत को हमेशा से सराहा है. उन्होंने कहा कि ईमानदारी से और स्वस्थ चर्चा होनी चाहिए. लेकिन इस कमरे के बाहर क्या जाना चाहिए ये CWC का सामूहिक फैसला होना चाहिए. Also Read - अधीर रंजन चौधरी का ममता बनर्जी पर हमला बोले- उन्हें अब सोनिया गांधी की नहीं मोदी की जरूरत

इसके बाद सोनिया ने कहा कि हमने कभी भी लोक महत्व के मुद्दों पर टिप्पणी करने से इनकार नहीं किया. पार्टी में संगठन चुनाव पर सोनिया ने कहा कि संगठन चुनाव का पूरा खाका आपके सामने आ रहा है. बता दें कि कुछ ही दिन पहले कपिल सिब्बल ने कहा था कि कांग्रेस के फैसले कौन लेता है ये उन्हें समझ में नहीं आ रहा है.

“कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सीडब्ल्यूसी में अपनी प्रारंभिक टिप्पणी मे विपक्ष पर सवाल दागते हुए कहा कि”लखीमपुर-खीरी की चौंकाने वाली घटनाएं हाल ही में भाजपा की मानसिकता को उजागर कर रही हैं. किसान आंदोलन में देश का किसान आज अपनी आजीविका के लिए कड़ा संघर्ष कर रहा है.