नई दिल्ली: गृह मंत्रालय ने रविवार को कहा कि चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’20 मई को पश्चिम बंगाल के तट से टकराएगा और इसके भयंकर रूप लेने की आशंका है. फिलहाल यह दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी में सक्रिय है. मंत्रालय ने बताया कि चक्रवाती तूफान अम्फान दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी और नजदीकी क्षेत्र से आगे बढ़ रहा है और बीते छह घंटे में छह किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तरपश्चिमी दिशा की ओर जा रहा है. Also Read - राजस्थान से ओडिशा तक टिड्डी का टेरर! प्रशासन ने दी डीजे बजाने की सलाह

मंत्रालय के एक अधिकारी ने मौसम विज्ञान विभाग के हवाले से बताया कि चक्रवात के अगले छह घंटे में भयंकर तूफान में बदलने की आशंका है. इसके बाद अगले 12 घंटे में यह और भयंकर रूप ले सकता है. सोमवार तक यह उत्तर दिशा की ओर बढ़ेगा और फिर उत्तर-उत्तरपूर्व में उत्तर पश्चिमी बंगाल की खाड़ी की ओर मुड़ जाएगा. Also Read - Heatwave In India: क्या है नौतपा? इसके आते ही क्यों पड़ने लगती है भीषण गर्मी, जानें पृथ्वी से सूर्य की दूरी और गर्मी का पूरा गणित

एक आधिकारिक आदेश में बताया गया कि चक्रवात के मद्देनजर तैयारियों का जायजा लेने के लिए मंत्रिमंडल सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में शनिवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई है. बैठक में पश्चिम बंगाल और ओडिशा को तत्काल सहायता देने के निर्देश दिए गए हैं. क्षेत्र में भारी बारिश, तेज हवाएं और ज्वार-भाटे की आशंका है. Also Read - Heatwave Delhi: दिल्ली-NCR में गर्म हवा और लू का प्रकोप, 47 डिग्री के ऊपर पहुंचा तापमान

मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का एक क्षेत्र बन रहा है जिसके तूफान का रूप लेने की प्रबल संभावना है. ओडिशा के राहत आयुक्त पीके जेना ने बताया कि उन्होंने मुख्य सचिव असित त्रिपाठी के साथ तूफान की स्थिति और राज्य पर पड़ने वाले उसके प्रभाव की समीक्षा की है. भारत मौसम विभाग द्वारा प्राप्त प्राथमिक सूचना के अनुसार संभावित कम दबाव का क्षेत्र उत्तर-उत्तर पूर्व दिशा में घूमते हुए अपने पथ पर लौटेगा और बंगाल की खाड़ी की ओर मुड़ेगा.