भुवनेश्वर: ओडिशा सरकार ने शुक्रवार को तटीय इलाके के 12 जिला कलेक्टरों को तैयार रहने को कहा है, क्योंकि बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ (Cyclone Amphan) घुमड़ रहा है. मुख्यसचिव असित त्रिपाठी ने यह सुनिश्चित करने के लिए शुक्रवार को एक समीक्षा बैठक की कि चक्रवात के कारण उत्पन्न होने वाली किसी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए गए हैं. Also Read - ओड़िशा में कोरोनावायरस: 24 घंटे में कोविड-19 के 86 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 1,189 हुई

सभी जिला कलेक्टरों, खासतौर से उत्तर ओडिशा के जिला कलेक्टरों से कहा गया है कि वे स्थिति पर बराबर नजर रखें. त्रिपाठी ने जगतसिंहपुर, केंद्रापाड़ा, बालासोर और भद्रक जिलों के कलेक्टरों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संभावित तूफान के लिए उठाए जाने वाले कदमों के बारे में गहन चर्चा की. Also Read - Amphan Cyclone: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बड़ा ऐलान, ओडिशा को एडवांस व्यवस्था के तौर पर दिए 500 करोड़ रुपये

विशेष राहत आयुक्त(एसआरसी) प्रदीप जेना ने कहा कि आईएमडी के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के दक्षिणपूर्व हिस्से के ऊपर निम्न दबाव गहराकर एक डिप्रेशन में बदल सकत है और उसके बाद वह बंगाल की खाड़ी के दक्षिणी हिस्से और उससे लगे मध्य हिस्से के ऊपर 16 मई की शाम तक एक चक्रवाती तूफान में बदल सकता है. Also Read - अम्फान तूफान: अरविंद केजरीवाल ने की पश्चिम बंगाल और ओडिशा के मुख्यमंत्रियों को मदद की पेशकश

एसआरसी ने कहा, “यह निश्चित नहीं है कि तूफान उत्तर ओडिशा से टकराएगा या पश्चिम बंगाल या बांग्लादेश की तरफ बढ़ जाएगा. अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है. लेकिन सरकार संभावित चक्रवात से निपटने के लिए तैयार है. एहतियात के तौर पर हमने 12 जिला कलेक्टरों को हाई अलर्ट पर रखा है.”

जेना ने कहा कि ओडिशा डिजास्टर एक्शन फोर्स (ओडीआरएएफ), नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (एनडीआरएफ) और अग्निशमनकर्मियों को तैयार रहने को कहा गया है. हालांकि उनकी तैनाती का निर्णय आईएमडी से चक्रवात के रास्ते के बारे में संकेत मिलने के बाद लिया जाएगा.

(इनपुट आईएएनएस)