नई दिल्ली/भुवनेश्वर: ओडिशा में तूफान फेनी के मद्देनजर चुनाव आयोग ने 11 जिलों में चुनावी आचार संहिता को हटाने की मंजूरी दे दी है, जिससे राहत एवं बचाव कार्यक्रम तेजी से किया जा सके. एक चुनाव अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी. Also Read - Burevi Cyclone Latest News: चक्रवाती तूफान का संकट, दो राज्‍यों के इन तटीय शहरों में NDRF की टीमें तैनात

Also Read - Tamil Nadu Cyclone Burevi Latest Update: तमिलनाडु में चार दिसंबर को चक्रवात आने का पूर्वानुमान, 85KM प्रति घंटा की रफ्तार से चलेगी हवा

  Also Read - School Reopen in West Bengal Latest Update: पश्चिम बंगाल में कब खुलेंगे कॉलेज, विश्वविद्यालय? शिक्षा मंत्री ने दिया बड़ा बयान

मंगलवार को जारी आदेश में राकेश कुमार ने कहा कि इससे पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, बालासोर, मयूरभंज, गजपति, गंजम, खोरधा, कटक और जाजपुर में ऐहतियाती कदम उठाने में तेजी आएगी. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के आग्रह पर चुनाव आयोग ने मंगलवार शाम यह निर्णय लिया. पटनायक चुनाव आयोग से तटीय जिलों से आदर्श आचार संहिता हटाने का आग्रह करने के लिए मंगलवार को दिल्ली में थे, जिससे वहां तूफान फेनी के आने से पहले ही आपदा प्रबंधन कार्यवाही की जा सके. तूफान फेनी के ओडिशा तट पर शुक्रवार तक आने की संभावना है.

बेहद तीव्र’ हो सकता है तूफान ‘फेनी’, IMD ने दी इन राज्‍यों में भारी बारिश की चेतावनी

पटकुरा विधानसभा चुनाव की तिथि 19 मई से आगे बढ़ाने का आग्रह

पटनायक ने पटकुरा विधानसभा चुनाव की तिथि 19 मई से आगे बढ़ाने का भी आग्रह किया था. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से मुलाकात कर उन्होंने वहां चुनाव की तिथि को आगे बढ़ाने का आग्रह किया, जिससे कि सभी लोग मिल-जुलकर काम कर सकें और प्रशासन लोगों की जान-माल को बचाने पर ध्यान दे पाए.