भुवनेश्वर: ओडिशा में भारी बारिश और प्रचंड हवाओं के साथ चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ पहुंचने के बाद विभिन्न घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गई. पुरी जिले के सखीगोपाल थानाक्षेत्र में एक पेड़ टूटकर एक किशोर पर गिर गया जिससे उसकी मौत हो गई. नयागढ़ जिले में कंकरीट के एक ढांचे का मलबा उड़कर एक महिला को जा लगा जिससे उसकी मौत हो गई. वह पानी लेने गई थी. केंद्रपाड़ा जिले के देबेंद्रनारायणपुर गांव में एक शरणार्थी शिविर में 65 वर्षीय एक महिला की मृत्यु हो गई. ऐसा संदेह है कि महिला की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई.

अत्यधिक प्रचंड चक्रवाती तूफान फोनी शुक्रवार सुबह करीब आठ बजे पुरी पहुंचा. इससे कई जगह पेड़ उखड़ गये, मकानों की छतें उड़ गयीं और संचार व्यवस्था ठप हो गयी. ओडिशा तट पर चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ के दस्तक देने के बीच कोलकाता और इसके आसपास के क्षेत्रों में सामान्य जीवन शुक्रवार को प्रभावित हुआ.

Cyclone Fani: यूपी में भी चक्रवाती तूफान का असर, बिजली गिरने से 4 लोगों की मौत

कोलकाता में भी फानी से मुश्किल
कोलकाता में तेज हवाओं और बारिश के कारण जलभराव और यातायात जाम हो गया. ‘फोनी’ के शुक्रवार की शाम तक पश्चिम बंगाल पहुंचने का अनुमान है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल में तूफान के दस्तक देने पर इसके कमजोर पड़ने का अनुमान है. हवा की गति लगभग 100 किलोमीटर प्रतिघंटे से 110 किलोमीटर प्रतिघंटे होगी.’’

शहर के विभिन्न हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हुई जिसके कारण उत्तर और दक्षिण कोलकाता में भारी यातायात जाम हो गया. पुलिस ने बताया कि इन क्षेत्रों में यातायात के मार्ग में परिवर्तन करना पड़ा. चक्रवात के पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ने के मद्देनजर कई राजनीतिक पार्टियों ने अगले 24 घंटे के लिए अपने चुनाव कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने अगले 48 घंटों के लिए अपनी सभी राजनीतिक सभाओं को रद्द कर दिया है. तटीय इलाकों में रेड अलर्ट जारी किया गया है और मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने को कहा गया है.

Cyclone Fani: प्रचंड तूफानी हवाओं और भारी बारिश से ओडिशा बेहाल, कहर बनकर टूटा फोनी

राज्य सरकार ने पूर्वी और पश्चिमी मिदनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना जिलों, हावड़ा, हुगली, झारग्राम, कोलकाता और सुंदरबन जैसे जिलों में किसी अप्रिय घटना को टालने के लिए एहतियाती कदम उठाये गये है. शहर से जाने वाली कई रेलगाड़ियों को रद्द किया गया है जबकि शहर हवाई अड्डे को शुक्रवार की अपराह्र तीन बजे से शनिवार की सुबह आठ बजे तक बंद रखे जाने का फैसला लिया गया है. कोलकाता पुलिस ने शहर में स्थिति पर नजर रखने के लिए अपने मुख्यालय में एक नियंत्रण कक्ष बनाया है. सभी सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों ने शुक्रवार से अपनी कक्षाओं को स्थगित कर दिया और स्वास्थ्य विभाग ने छह मई तक चिकित्सकों और स्टॉफ की छुट्टियों को रद्द कर दिया है.

Cyclone Fani: इन 10 प्वाइंट्स में समझिए क्यों इतना खतरनाक है ये चक्रवात