Cyclone Fani: पिछले करीब दो दशक में आने वाले सबसे खतरनाक Cyclone Fani ओडिशा तट पर पहुंच चुका है. इसकी वजह से ओडिशा के पूरे तटीय इलाकों में बेहद तेज हवाएं चल रही हैं. हवाओं की रफ्तान 175 से 200 किमी प्रति घंटे के बीच है. भारतीय मौसम विभाग ने इस तूफान के पुरी तट से टकराने की पुष्टि कर दी है. वैसे तो इस तूफान के दस्तक देने से काफी पहले ही ओडिशा में तेज हवाओं से साथ भारी बारिश हो रही थी. अगले कुछ घंटों तक राज्य में तटीय इलाके की स्थिति ऐसी ही रहने की आशंका है. अभी तक तूफान की वजह से किसी तरह के जानमाल ने नुकसान की खबर नहीं है. ओडिशा के लिए अलगे 4 से 5 घंटे बेहद अहम हैं.

राज्य सरकार ने तूफान से बचाव के लिए पहले ही 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है. लोगों से शुक्रवार को घरों में रहने की सलाह दी गई है. आज सुबह से ही अत्यंत प्रचंड च्रकवात ओडिशा के तट की ओर काफी तेजी से बढ़ रहा था. पहले यह अनुमान लगाया गया था कि तूफान दोपहर बाद तीन बजे के आसपास ओडिशा तट से टकराएगा, लेकिन यह सुबह ही पहुंच गया.

राज्य के मुख्य सचिव एपी पधी ने कहा था कि चक्रवात के धार्मिक नगरी पुरी के बेहद करीब शुक्रवार सुबह साढ़े नौ बजे पहुंचने की आशंका है. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने लोगों से अपील की है कि वे इस दौरान घरों के अंदर ही रहें और कहा कि लोगों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी इंतजाम किए गए हैं.