Cyclone Jawad: बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) के रूप में बदल गया है और आज इसके ओडिशा- आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के तटों पर पहुंचने की आशंका जताई गई है. इसकी वजह से बिहार और झारखंड में भी भारी बारिश की संभावना है. आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि चक्रवात के शनिवार की सुबह उत्तरी आंध्र प्रदेश और ओडिशा तट के पास पश्चिमी-मध्य बंगाल की खाड़ी पहुंचने की संभावना है. इसके बाद यह ओडिशा और निकटवर्ती आंध्र प्रदेश के तट के पास से होकर उत्तर-पूर्वोत्तर की ओर बढ़ेगा. रविवार को दोपहर तक पुरी के आसपास के तट पर पहुंचेगा.Also Read - Weather Report Today India: देश के कई हिस्सो में 'कोल्ड डे' का अलर्ट जारी, जानिए कैसा रहेगा मौसम का मिजाज

Also Read - देश के पहाड़ी राज्यों में भारी बर्फबारी- रेलवे ने शेयर की कालका-शिमला रूट की तस्वीरें- Photos देख रोमांचित हो जाएंगे आप

रेलवे ने 3 और 4 दिसंबर के लिए कैंसिल की 95 ट्रेनें Also Read - Weather Alert: रहें सावधान! दिल्ली-पंजाब-हरियाणा-बिहार सहित 8 राज्यों में अभी और बढ़ेगी शीतलहर, 5 डिग्री तक गिरेगा पारा

चक्रवाती तूफान जवाद को लेकर रेलवे भी एहतियात बरत रहा है। इन रूटों से होकर गुजरने वाली 95 ट्रेनों को 3 और 4 दिसंबर को रद्द किया गया है, जिसमें छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जोन से होकर गुजरने वाली 11 ट्रेनें भी शामिल हैं. इधर चक्रवाती तूफान के असर से छत्तीसगढ़ में पूर्वी हवा आनी शुरू हो गई है, जिससे मौसम शुष्क और ठंडा हो गया है.छत्तीसगढ़ के पड़ोसी राज्य ओडिशा के 13 जिलों में अलर्ट भी जारी किया गया है.

चक्रवाती तूफान को लेकर रेलवे प्रशासन द्वारा रद्द की गई ट्रेनों में लिंक एक्सप्रेस, उत्कल एक्सप्रेस, दुर्ग-पुरी एक्सप्रेस, पुरी-अहमदाबाद, विशाखापट्टनम- कोरबा, विशाखापट्टनम-किरंदुल, भुनेश्वर से जगदलपुर हीराखंड एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनें शामिल हैं, जो गुरुवार को अपने गंतव्य के लिए नहीं चलीं, इसलिए ये ट्रेनें कल बिलासपुर और रायपुर नहीं आएंगी.ज्यादातर ट्रेनें ओडिशा के पुरी में जाकर समाप्त होने वाली या फिर वहां से छूटने वाली ट्रेनें हैं. यह सभी 11 ट्रेनें बिलासपुर जोन से होकर गुजरती हैं. बस्तर क्षेत्र को भुनेश्वर व विशाखापट्टनम से जोड़ने वाली एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेन भी रद्द की गई है.

110 किलोमीटर की रफ्तार से चलेंगी हवाएं
मौसम विभाग ने कहा कि 65 किमी प्रति घंटा की गति से उत्तरी आंध्र प्रदेश तट और ओडिशा तट पर शनिवार की शाम से अगले 12 घंटे तक तेज हवाएं चल सकती हैं. मौसम विज्ञान के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि चक्रवाती तूफान समुद्र में बड़े तूफान में तब्दील हो जाएगा और 110 किमी प्रति घंटा की गति से हवाएं चलेंगी.हवा की गति रविवार को सुबह से अगले 12 घंटों तक 80 किमी प्रति घंटा हो सकती है. उन्होंने बताया कि चक्रवात से उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और इससे लगे दक्षिणी तटीय ओडिशा में शनिवार को बारिश की तीव्रता बढ़ने के आसार हैं.

इन राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम, विजयनगरम और विशाखापत्तनम जिलों में शनिवार के लिए चेतावनी जारी की गई है. ओडिशा के गजपति, गंजाम, पुरी, जगतसिंहपुर जिलों के लिए भी चेतावनी जारी की गई है. आईएमडी ने शनिवार और रविवार को पश्चिम बंगाल में छिटपुट स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने और रविवार और सोमवार को असम , मेघालय व त्रिपुरा में छिटपुट स्थानों पर भारी बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है.