Cyclone Jawad Update: बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवात जवाद शनिवार को कमजोर पड़ता नजर आया और रविवार की दोपहर बाद यह ओडिशा के समुद्री तट पहुंचेगा. मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि  चक्रवाती तूफान जवाद का डीप डिप्रेशन अवशेष विजाग से लगभग 230 किमी पूर्व-उत्तर पूर्व, गोपालपुर से 130 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम, पुरी से 180 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और पारादीप से 270 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में स्थित है और अब इसके कमजोर होकर डिप्रेशन में बदलने और दोपहर के आसपास पुरी तट तक पहुंचने की संभावना है.Also Read - Weather Alert: बारिश के बाद शीतलहर की वापसी, कई राज्यों पर कसेगा Cold wave का शिकंजा

चक्रवात जवाद के ओडिशा के समुद्री तट पर पहुंचने की संभावना के बीच अभी से तीन घंटों के दौरान गंजम, पुरी, खोरदा, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, कटक जिलों के कुछ हिस्सों में एक या दो तीव्र / भारी बारिश के साथ मध्यम बारिश / गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है. Also Read - Weather Update: आज से मौसम में देखने को मिलेगा बदलाव, कई राज्यों में होगी बारिश, बढ़ जाएगी ठंड

जवाद को लेकर तबाही की संभावना जताई जा रही थी, लेकिन इसके कमजोर पड़ने की वजह से बीते एक साल में दो चक्रवातों गुलाब और यास की तबाही झेल चुके पूर्वी राज्य ओडिशा व आंध्र प्रदेश के लिए यह बड़ी राहत की बात है. मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को पुरी में जमीन से टकराने के पहले चक्रवात और भी कमजोर होते हुए गहरे दबाव में पहुंचेगा जिससे अधिक तबाही के आसार नहीं हैं. Also Read - Weather Forecast: अमृतसर, चंडीगढ़, दिल्ली, लखनऊ सहित कई शहरों में भारी बारिश का Alert

मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय मोहापात्रा ने कहा, जवाद के कमजोर पड़ने से अधिक नुकसान नहीं होगा लेकिन इस दौरान आंध्र प्रदेश व ओडिशा में बारिश बढ़ेगी जिससे फसलों को नुकसान हो सकता है. उन्होंने कहा कि इसका जो भी असर होगा वह ओडिशा के गंजम, भदरक और बालासोर जिले में होगा और  यह नुकसान चक्रवात की बड़ी तबाही जैसा नहीं होगा. श्रीकाकुलम,  विजियानगरम व विशाखापत्तनम में बारिश तेज हो सकती है.

एनडीआरएफ दीघा में सहायक कमांडेंट एसडी प्रसाद ने कहा पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ की 18 टीमें तैनात हैं. हमने जागरूकता कार्यक्रम चलाए और जरूरत पड़ने पर निकासी के लिए तैयार रहें. यह राहत की बात है कि कल पुरी समुद्र तट पर पहुंचने पर जवाद कमजोर हो जाएगा.