नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में हाल ही में चक्रवाती तूफान अम्फान का कहर टूटा और अब देश एक दूसरा तूफान भी दस्तक देने को है. यह तूफान महाराष्ट्र व गुजरात के समुद्री तटों की ओर आगे बढ़ रहा है. निसर्ग फिलहाल मुंबई से 490 किलोमीटर, गोवा की राजधानी से 280 किलोमीटर और गुजरात के सूरत से 710 किलोमीटर दूर है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि मंगलवार को सुबह साढ़े पांच बजे से यह धीरे-धीरे घनीभूत हो रहा है.Also Read - India-China के बीच 12वें राउंड की मोल्‍दो में कॉर्प्‍स कमांडर स्‍तर की वार्ता जारी, इन टकराव वाले प्‍वाइंटस पर चर्चा

यह भी कहा गया है कि अब अगले बारह घंटों में इसके चक्रवाती तूफान में बदलने और फिर इसके बाद अगले बारह घंटों में एक भयंकर चक्रवाती तूफान में बदलने की उम्मीद की जा रही है. आईएमडी द्वारा चक्रवातों को उनकी तीव्रता के आधार पर वर्गीकृत करने के लिए तीन स्तर बतलाए गए हैं, जो क्रमश: निम्न दबाव, तनाव और गहरा तनाव हैं. बुधवार को एक भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में रायगढ़ जिले के हरिहरेश्वर शहर और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों को इसके पार करने की आशंका है. Also Read - COVID19 Cases Update: देश में लगतार चौथे दिन कोरोना के सक्रिय मरीज बढ़े, आज 41,649 नए केस दर्ज हुए

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा है कि 3 जून को तटों को पार करते वक्त इस गंभीर चक्रवाती तूफान की गति 90-105 किमी प्रति घंटे के रफ्तार से होगी. भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम विज्ञान संस्थान में जलवायु वैज्ञानिक रॉक्सी मैथ्यू कोल के अनुसार, निसर्ग मानसून से पहले यानी अप्रैल-जून में अपनी तरह का दूसरा ऐसा तूफान होगा, जो महामराष्ट्र की तट से टकराएगा. Also Read - फिलीपीन ने भारत एवं नौ अन्य देशों पर यात्रा पाबंदियां 15 अगस्त तक के लिए बढ़ायीं