नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में हाल ही में चक्रवाती तूफान अम्फान का कहर टूटा और अब देश एक दूसरा तूफान भी दस्तक देने को है. यह तूफान महाराष्ट्र व गुजरात के समुद्री तटों की ओर आगे बढ़ रहा है. निसर्ग फिलहाल मुंबई से 490 किलोमीटर, गोवा की राजधानी से 280 किलोमीटर और गुजरात के सूरत से 710 किलोमीटर दूर है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि मंगलवार को सुबह साढ़े पांच बजे से यह धीरे-धीरे घनीभूत हो रहा है. Also Read - भारत को मिला अमेरिका का समर्थन, माइक पॉम्पिओ बोले- चीन को भारत ने दिया सही जवाब

यह भी कहा गया है कि अब अगले बारह घंटों में इसके चक्रवाती तूफान में बदलने और फिर इसके बाद अगले बारह घंटों में एक भयंकर चक्रवाती तूफान में बदलने की उम्मीद की जा रही है. आईएमडी द्वारा चक्रवातों को उनकी तीव्रता के आधार पर वर्गीकृत करने के लिए तीन स्तर बतलाए गए हैं, जो क्रमश: निम्न दबाव, तनाव और गहरा तनाव हैं. बुधवार को एक भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में रायगढ़ जिले के हरिहरेश्वर शहर और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों को इसके पार करने की आशंका है. Also Read - पाकिस्तान ने कहा- कुलभूषण जाधव ने अपील दायर करने से मना किया, भारत ने दावे को बताया ‘स्वांग’

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा है कि 3 जून को तटों को पार करते वक्त इस गंभीर चक्रवाती तूफान की गति 90-105 किमी प्रति घंटे के रफ्तार से होगी. भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम विज्ञान संस्थान में जलवायु वैज्ञानिक रॉक्सी मैथ्यू कोल के अनुसार, निसर्ग मानसून से पहले यानी अप्रैल-जून में अपनी तरह का दूसरा ऐसा तूफान होगा, जो महामराष्ट्र की तट से टकराएगा. Also Read - विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने की अमेरिकी उप विदेशमंत्री से बात, हिंद-प्रशांत, कोविड-19 से निपटने को लेकर हुई चर्चा