#CycloneNivar News Updates: चक्रवाती तूफान निवार (Cyclone Nivar) के भयंकर होने की आशंका के चलते तमिलनाडु से लगभग 30,000 से अधिक लोगों को निकाला गया है और पुडुचेरी से 7,000 लोगों को निकाला गया है. यहां एनडीआरएफ की 25 टीमें तैनात की गईं हैं, जबकि इंडियन कोस्‍ट गार्ड को सतर्क कर दिया गया है. चेन्नई के तट पर भारतीय तटरक्षक बल के पोत को भी तैनात किया गया है. वहीं, Cyclone Nivar की वजह से चेन्नई से जाने और चेन्नई आने वाली 26 फ्लाइट रद्द कर दी गई हैं. Also Read - राहुल गांधी Madurai में जल्लीकट्टू देखते आए नजर, टि्वटर पर ट्रेंड हुए गोबैक राहुल, वेलकम नड्डाजी

बता दें कि ‘निवार’ चक्रवात तमिलनाडु, पुडुचेरी के बीच तट तक आज रात पहुंचेगा. चक्रवाती तूफान ‘निवार’ अगले 12 घंटे में विकराल रूप धारण कर लेगा और गुरुवार तड़के तमिलनाडु और पुडुचेरी के बीच तट से टकराएगा. Also Read - Weather Updates: शीतलहर की मार झेल रहा उत्तर भारत, जानें कहा पड़ रही सबसे अधिक ठंड

चक्रवाती तूफान की गति बढ़कर 145 KM/ प्रति घंटा हो सकती है
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि चक्रवाती तूफान के अगले 12 घंटे में अति विकराल रूप धारण की आशंका है. इसके उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और 25 नवंबर की रात या 26 नवंबर तड़के तमिलनाडु और पुडुचेरी के बीच कराईकल और मामल्लापुरम तट से टकराने की आशंका है. तूफान की गति 120-130 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी, जो बढ़कर 145 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है. Also Read - किसानों का आंदोलन जारी, तमिलनाडु में भी कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव की मांग

37 हजार लोगों को निकाला गया
NDRF के डीजी ने कहा, तमिलनाडु से लगभग 30,000 से अधिक लोगों को निकाला गया है और पुडुचेरी से 7,000 लोगों को निकाला गया है. केंद्र, राज्य और स्थानीय सरकारें मिलकर काम कर रही हैं. क्षति को कम करने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं.

तटरक्षक बल का पोत तैनात
CycloneNivar के मद्देनजर आपदा राहत वस्तुओं के साथ चेन्नई के तट पर भारतीय तटरक्षक बल के पोत को भी तैनात किया गया है.

26 फ्लाइट रद्द
चेन्नई एयरपोर्ट के बयान के मुताबिक, CycloneNivar की वजह से चेन्नई से जाने वाली और चेन्नई आने वाली 26 फ्लाइट रद्द कर दी गई हैं. #CycloneNivar के कारण, चेन्नई एयरपोर्ट पर विमान संचालन आज शाम 7 बजे से कल सुबह 7 बजे तक निलंबित रहेगा.

चेम्बरमबक्कम झील से एक हजार क्‍यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है
चक्रवात के प्रभाव से चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में रातभर बारिश हुई और निचले स्थानों में जलजमाव हो गया. इस बीच लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने कहा कि चेम्बरमबक्कम झील से एक हजार क्यूसेक पानी छोड़ दिया है. क्योंकि इसमें पानी अधिकतम स्तर पर पहुंचने वाला है.

तमिलनाडु के 13 जिलों में सार्वजनिक अवकाश
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने चक्रवात के मद्देनजर लोगों की सुरक्षा के लिए बृहस्पतिवार को चेन्नई, वेल्लोर, कुड्डालोर, विल्लुपुरम, नागापट्टिनम, तिरुवरूर, चेंगलपेट, कांचीपुरम समेत 13 जिलों में सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की. बुधवार को पहले ही अवकाश घोषित किया जा चुका था.

एनडीआरएफ की 25 टीमें तैनात
राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के महानिदेशक एसएन प्रधान ने कहा, चक्रवात निवार को ‘बहुत गंभीर’ के रूप में वर्गीकृत किया गया है. इस दृष्टिकोण के साथ हम सबसे खराब स्थिति के लिए तैयारी कर रहे हैं. हमारी टीमें पिछले 2 दिनों से मैदान पर हैं. अब तक तमिलनाडु और पुड्डुचेरी और आंध्र प्रदेश में 25 टीमों को तैनात किया गया है.

लोगों को घर के अंदर रहने की सलाह दी गई है
पुडुचेरी में Cyclone Nivar के मद्देनज़र पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने कलापेट इलाके के आस-पास क्षेत्रों का जायज़ा लिया. लोगों को घर के अंदर रहने की सलाह दी गई है और निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित कर दिया है, हम उन लोगों को भोजन, पीने का पानी और अन्य सुविधा उपलब्ध करा रहे हैं और उनका कोरोना टेस्ट भी कराया गया है.